अमेरिका में फिर कोरोना का कहर : एक दिन में 60 हजार से ज्यादा मामले, लोगों को फिर लगाना होगा मास्क

वाशिंगटन, एएनआइ : अमेरिका में कोरोना संक्रमण बेकाबू होता जा रहा है। यहां मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण वैक्सीन की दोनों खुराक लगे लोगों को भी मास्क जरूरी कर दिया गया है। इधर ओलिंपिक के दौरान जापान की राजधानी में इमरजेंसी लगी होने के बाद भी कोरोना के रिकार्ड मरीज मिल रहे हैं।

यहां पिछले 24 घंटे के दौरान 3177 नए मामले आए हैं। अमेरिका में सेंटर फार डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (सीडीसी) ने डेल्टा वैरिएंट के कारण मरीजों में तेजी से हो रही वृद्धि के कारण मास्क लगाने की अनिवार्यता फिर शुरू कर दी गई है।

सीडीसी की गाइडलाइन के अनुसार अब इनडोर में वैक्सीन लगे लोगों को भी मास्क लगाना होगा। सीडीसी की गाइड लाइन जारी होने के तुरंत बाद व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि जिन स्थानों पर संक्रमण की गति तेज है, उन स्थानों पर यात्रा के दौरान वह भी मास्क का प्रयोग करेंगे। अमेरिकी जनता से भी उन्होंने मास्क पहनने की अपील की है।

एपी के अनुसार सीडीसी के निदेशक रोशेल वालेंस्की ने कहा है कि वैज्ञानिक विश्लेषण में डेल्टा वैरिएंट से आने वाले मरीजों के अध्ययन चिंताजनक हैं। अमेरिका में वर्तमान में औसतन 57 हजार नए मरीज रोजाना आ रहे हैं। सीडीसी के पूर्व निदेशक टाम फ्रिडेन ने सीएनएन से आशंका जताई कि आने वाले हफ्तों में दो लाख मरीज प्रतिदिन हो सकते हैं।

एपी के अनुसार, ओलिंपिक खेलों के दौरान टोक्यो में कोरोना मरीजों की रिकार्ड संख्या हो रही है। खेलों के शुरू होने के बाद अब तक एक दिन में सबसे ज्यादा 3177 नए मामले आए हैं। विगत दिवस इन मरीजों की संख्या 2848 थी।

टोक्यो में खिलाड़ियों को संक्रमण से बचाने के लिए इमरजेंसी लगी हुई है। जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने जनता से घर से बिना कार्य न निकलने की अपील की है। विशेषज्ञों के अनुसार किसी भी खिलाड़ी के जनता से संक्रमित होने के कोई साक्ष्य नहीं हैं।

डब्ल्यूएचओ ने किया सावधान : एपी के अनुसार, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि कोरोना तेजी से बढ़ रहा है। पिछले सप्ताह में वैश्विक स्तर पर कोरोना संक्रमण में आठ फीसद की वृद्धि हुई है। मौत का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ रहा है। पिछले सप्ताह इस आंकड़े में भी 21 फीसद की वृद्धि हुई है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close