मोटा वेतन देने का झांसा देकर युवक को जाल में फंसाया, ब्लैंक चेक पर हस्ताक्षर कराकर 25 लाख की मांग की

फरीदाबाद : उत्तराखंड के देहरादून निवासी दंपती पर एक युवक को नौकरी का झांसा देकर चार लाख रुपये हड़पने व ब्लैंक चेक पर हस्ताक्षर कराने का आरोप लगा है।

आरोप है कि दंपती अब ब्लैंक चेक के नाम पर युवक को ब्लैकमेल कर 25 लाख रुपये की मांग कर रहे हैं। पुलिस ने युवक की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

भाटिया कालोनी बल्लभगढ़ निवासी राकेश शर्मा ने पुलिस को बताया है कि अपने एक जानकार के माध्यम से उसकी मुलाकात संगम विहार, देहरादून निवासी अनुराग और उसकी पत्नी निधि से साल 2016 में हुई थी।

राकेश शर्मा के जानकार ने बताया था अनुराग बड़ा कारोबारी है। उसे एक भरोसेमंद व्यक्ति की तलाश है जो नोएडा में उसकी फैक्ट्री संभाल सके। इसके एवज में वह अच्छा खासा वेतन भी देगा।

राकेश शर्मा नौकरी के लिए तैयार हो गया। अनुराग ने उसे 1.30 लाख रुपये मासिक वेतन का वादा किया। उसने कहा कि इस नौकरी के लिए राकेश को कुछ दस्तावेज तैयार कराने होंगे। इसके लिए चार लाख रुपये लगेंगे।

राकेश ने पत्नी के आभूषण बेचकर व रिश्तेदारों से उधार लेकर चार लाख रुपयों का इंतजाम किया और अनुराग व उसकी पत्नी को दे दिए। इसके बाद अनुराग ने राकेश को नौकरी ज्वाइन करने के लिए नोएडा फैक्ट्री बुलाया। वहां उसे बताया गया कि वह बतौर निदेशक काम करेगा और फैक्ट्री की तरफ से हस्ताक्षर की शक्ति भी उसके पास होगी।

कुछ दिन बाद अनुराग और उसकी पत्नी ने कई ब्लैंक चेक राकेश शर्मा से हस्ताक्षर करा लिए। तीन महीने तक वह फैक्ट्री में काम करता रहा मगर वेतन नहीं मिला तो उसने नौकरी छोड़ दी। इसके बाद आरोपितों ने राकेश को धमकाना शुरू कर दिया।

उससे कहा गया कि उसके हस्ताक्षर युक्त 10-12 चेक उनके पास हैं। इन्हें बाउंस कराकर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएंगे। इससे बचने के लिए आरोपितों ने 25 लाख रुपये की मांग शुरू कर दी। पुलिस का कहना है कि फिलहाल शिकायत के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। जांच की जा रही है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close