Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi : अनुपमा का काव्या को करारा जवाब कहां…..
Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi

Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi

अनुपमा 24 जून 2021 का एपीसोड : अनुपमा गीता के पास जाती है। गीता अपना बैग पैक करते हुए कहती है कि क्या वह भी अपना गुस्सा उस पर निकालना चाहती है। अनु का कहना है कि वह या तो गलत हो सकती है या पीड़ित हो सकती है, पर दोनों नहीं हो सकती है, वह यह भी जानती है कि मुद्दा इतना बड़ा नहीं था और अगर वह यहां रहती है और काम करती है तो उसके हाथ भी जल जाएंगे। अगर वह सम्मान देगी तो उसे सम्मान मिलेगा। वैसे भी वह जहां भी रहेगी प्यार और समृद्धि बनाए रखेगी। सब कहेंगे गीता दासी है लेकिन दिल से सच्ची है।

गीता 1 दिन का वेतन रखकर बाकी वेतन लौटा देती है। अनु का कहना है कि उसने पैसे नहीं मांगे। गीता कहती है कि उसे अच्छा लगेगा और कहती है कि अगर वह किसी दिन उसके लिए काम कर सकती है तो उसे खुशी होगी।

अनु सहमत है। वह काव्या को यह कहते हुए पैसे लौटाती है कि गीता ने 1 दिन का वेतन रखा और बाकी को वापस कर दिया। काव्या ताना मारती है कि वह अपने पूर्व पति की गाढ़ी कमाई को बर्बाद होते नहीं देख सकती।

Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi

अनु का कहना है कि वह बहुत अधिक सोचती है, उसे खुश रहना चाहिए और दूसरों को भी खुश रहने देना चाहिए। काव्या सोचती है कि जब वह बहू नहीं रही तो वह उसके सास के रूप में अभिनय करने की कोशिश कर रही है।

बा को सिर में तेज दर्द होता है, वह सोचती है कि यदि संभव हो तो, वह कुछ बर्तनों के साथ नौकरानी का हाथ बटाती है। नौकरानी के कारण उसके बेटे की नौकरी का पहला दिन बर्बाद कर दिया। अनु पूछती है कि क्या उसे सिरदर्द हो रहा है, वह चाय बनाकर लाएगी और फिर उसके सिर की मालिश करेगी। बा गुस्से में अदरक की जगह जहर डालने को कहते हैं।

अनु उसे जाने देने के लिए कहती है, वे काव्या और वनराज के मुद्दों में फिर से हस्तक्षेप नहीं करेंगे। बा का कहना है कि वह यहां 25 साल से हैं और उन्होंने कभी कोई मुद्दा नहीं बनाया, लेकिन जब से इस घर में नौकरानी कटोरी का उल्टा कदम पड़ा, यह घर युद्ध का मैदान बन गया।

Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi

अनु का कहना है कि यह काव्या के कारण नहीं, बल्कि इस घर में रहने के कारण है। बा को इस बात का एहसास होना चाहिए कि कोई भी महिला अपने घर में रहने वाली दूसरी महिला और उसके बजाय पूरे परिवार का साथ देने को बर्दाश्त नहीं करेगी। बा खुद को दोष देना बंद करने के लिए कहती है।

अनु उसे काव्या के सास की तरह सोचने के लिए कहती है न कि मां की तरह, वह और काव्या अलग हैं और एक दूसरे की तरह नहीं बन सकते हैं, इसलिए बा को काव्या से समान नहीं मानना ​​चाहिए। यदि वह चाहती है कि उसका पुत्र उसकी पत्नी और माता के बीच कष्ट उठाए, उसे कम से कम अपने बेटे की खातिर एडजस्ट करना चाहिए। बा सहमत हो जाती हैं।

अनु सिर दबाती है। बा इसके बजाय उसका गला दबाने के लिए कहती है। अनु का कहना है कि वह एक बहू के रूप में होगी, लेकिन एक बेटी के रूप में नहीं। बा हंसती हैं। अनु का कहना है कि वह बा के बिना नहीं रह सकती। बा उसे चाय लाने और जल्द ही कॉलेज के लिए तैयार होने के लिए कहती है।

Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi

बा वनराज को मीठा दही खिलाते हैं। बापूजी उसे कड़ी मेहनत करने के लिए कहते हैं। बा कहती हैं कि एक मेहनती व्यक्ति के जीवन में बुरा समय थोड़े समय के लिए आता है और कड़ी मेहनत से उसे बाहर निकाला जा सकता है। वनराज कहते हैं कि पंच करना बा का कर्तव्य है, वह बस कड़ी मेहनत करेंगे। बा याद दिलाती है कि वह परीक्षा के दौरान उसे मीठा दही खिलाती थी और कहती है कि वह पहले भागकर आता

काव्या नीचे जाती है और वनराज से कैफेटेरिया में आज के दोपहर के भोजन का प्रबंध करने के लिए कहती है क्योंकि उसे कार्यालय के लिए देर हो चुकी है। बा गुस्से में है, लेकिन अनु उसे शांत होने का इशारा करती है। किंजल अनु से पूजा का सामान लाने के लिए कहती है क्योंकि उसे नहीं पता कि क्या चाहिए। बा उसका समर्थन करती है। काव्या पूछती है कि कौन सी पूजा। किंजल का कहना है कि कल वट सावित्री पूजा है। कावी पूछता है क्या सावित्री? किंजल कहती हैं वट सावित्री।

Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi

बा का कहना है कि वे इसे सालों से मना रहे हैं। अनु बताते हैं कि वे इस दिन पति की लंबी उम्र और सेहत के लिए व्रत रखती हैं और कहा जाता है कि अगर इस दिन पत्नी व्रत रखे तो पति-पत्नी 7 साल के लिए बंध जाते हैं। काव्या अनु को ताना मारती है कि उसके सारे व्रत विफल हो गए। बा कहती हैं कि अगर अनु का व्रत विफल हो गया होता, तो वनराज यहां जीवित नहीं होता और वनराज की दुर्घटना की याद दिलाती है। काव्या कहती है कि अनु अब उपवास नहीं कर सकती, इसलिए वह इस साल से वनराज के लिए व्रत रखेगी।

Ebharatnews.in

बा मज़ाक करती है कि क्या वह बिना घास,सलाद के रह सकती है। काव्या कहती है कि वह अपने पति के लिए भूखी रह सकती है। किंजल पूछती है कि केवल पत्नी को ही पति के लिए उपवास क्यों करना पड़ता है, पति पत्नी के लिए उपवास क्यों नहीं कर सकता। समर उसका समर्थन करता है। तोशु ने उसे कुछ न बाेलने के लिए कहता है।

Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi

समर नंदिनी के लिए घर का बना नाश्ता ले जाता है और पूछता है कि वह बाहर का खाना क्यों खा रही है। वह कहती है कि वह भूखी थी और खाना चखकर कहती है कि अनु और समर ने उसे बिगाड़ दिया है। उनका कहना है कि वे शादी के बाद कैसे मैनेज करेंगे, भारतीय महिलाएं साल में 1-2 दिन उपवास करती हैं या फिर 7 जन्मों तक साथ कैसे रहेंगी।

वह कहती है एलओएल, बहुत लंबी उम्र, एक जीवन उसके लिए कठिन है और वह 7 जन्मों के बारे में बात कर रहा है, उसे नहीं पता कि 7 जीवन हैं या नहीं, वह केवल 1 जीवन जानती है जो केवल उसी का है। वह पूछता है कि क्या वह वही करेगी जो कई लड़कियां करती हैं।

वह उसे कुछ खास करने के लिए कहती है। वह कहते हैं कि नाश्ता जल्दी खत्म करो क्योंकि उन्हें फैक्ट्री का दौरा करने की आवश्यकता है। वनराज कैफेटेरिया पहुंचता है और सोचता है कि उसे खुद को फिर से साबित करना चाहिए, पिछले साक्षात्कारकर्ता ने उसे खारिज कर दिया।

Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi

शाम को, बा ने अनु से रात के खाने में अतिरिक्त घी डालने के लिए कहा क्योंकि उन्हें पूरे दिन उपवास करने की ज़रूरत है, किन्जू बेबी से पूछती है कि क्या वह भी उपवास करेगी। किंजल बिल्कुल कहती हैं। बा अपनी मां को सूचित करने के लिए कहती है, वह उन पर मामला दर्ज करने की बात भी कहती है, यह अच्छा है कि नागिन उपवास नहीं करती नहीं तो प्रमोद को 6 और जन्मों के लिए नागिन सहन करनी पड़ेगी।

किंजल का कहना है कि तोशु भी उसके लिए उपवास कर रहा है। बा पूछती है कि क्या वह उसे उपवास करने के लिए मजबूर कर रही है। काव्या अंदर आती है और कहती है कि उसे, किंजल और बा को अपने पति के कुर्ते की मैचिंग ड्रेस पहननी चाहिए। वह फिर अनु को अपनी मां के घर जाने के लिए कहती है क्योंकि उसे बुरा लगेगा।

Anupama 24 June 2021 Written Episode Update in Hindi

अनु उसके बारे में सोचने के लिए उसका धन्यवाद करती है, लेकिन वह कहती है कि उसे उसके बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। काव्या कहती है कि वह उसके बारे में सोच रही है क्योंकि वह कल उपवास कर रहा है, उसे 1 दिन जाना चाहिए और सभी को शांति से रहने देना चाहिए। बा को गुस्सा आता है, लेकिन अनु उसे कंट्रोल कर लेती है।

काव्या का कहना है कि अनु ना तो उपवास कर सकती है और ना नए कपड़े पहन सकती है, उसे और वी को अनुष्ठान करते हुए देखकर जलन होगी और उनके प्यार पर नजर लगेगी। अनु का कहना है कि प्यार को कोई भी देख सकता है, इसलिए उसे अपने प्यार को इतना मजबूत बनाना चाहिए कि किसी की नजर उसकी आंख पर न पड़े।

वह किसी के प्यार पर नज़र रखने वाली काव्या नहीं है और काव्या को अपनी आंखें बंद रखने के लिए अनु नहीं बनना चाहिए और काव्या को अपने पति पर नज़र रखने देना चाहिए। काव्या गुस्से में खड़ी हो जाती है।

रात के खाने के दौरान अनु कल के उपवास के लिए किंजल को जबरदस्ती खिलाती है। तोशु का कहना है कि वह भी उपवास कर रहा है। समर और पाखी उसे ताना देते हैं। बा उनसे जुड़ती हैं। किंजल का कहना है कि अगर वह ज्यादा खाती है तो उसका पेट फट जाएगा। बा का कहना है कि वह कल बेहोश हो सकती है और नागिन उन पर केस करेगी।

पाखी समर को दुखी देखती है और उसे नंदिनी को उसके लिए उपवास करने की सूचना देने के लिए कहती है। वह कहता है कि अगर उसे करना है तो करना चाहिए। तोशु कहता है कि उसे नंदिनी के लिए उपवास करना चाहिए। समर, बा पूछते हैं कि क्या तोशु के लिए उपवास करना आवश्यक है। अनु का कहना है कि किसी के लिए उपवास करना जरूरी नहीं है, लेकिन जैसे महिलाएं उपवास कर रही हैं, वैसे ही पुरुषों को भी उपवास करना चाहिए।

बा कहते हैं कि पुरुष अपने समय में कभी उपवास नहीं करते थे। अनु का कहना है कि बा के जमाने में महिलाएं कभी भी घर से बाहर काम के लिए नहीं निकलती थीं, जब महिलाएं और पुरुष समान रूप से जिम्मेदारियां बांट रहे हैं, तो उन्हें एक साथ उपवास करना चाहिए। बापूजी उनके साथ जुड़ते हैं और कहते हैं कि वह सही है, यहां तक ​​कि वह भी बा के लिए उपवास करने की सोच रहे हैं। बा शिज़। किंजल काव्या को सलाद खाते हुए देखती है और उससे कहती है कि अगर वह कल उपवास कर रही है तो भारी भोजन करें।

काव्या उसे परेशान न करने के लिए कहती है और चली जाती है। बा का कहना है कि कल निश्चित रूप से मैदे की कटोरी गिर जाएगी। सब चले जाते हैं। अनु को उदास देखकर बा पूछती है कि क्या वह ठीक है।

अनु भावनात्मक रूप से कहती है कि वह अजीब महसूस कर रही है क्योंकि यह पहला वर्ष है जहां वह उपवास नहीं कर रही है, बा उसे जबरदस्ती खिलाती थी जैसे उसने किंजल को खिलाया, अब वह सुबह तैयार नहीं हो सकती और शाम को छत पर उपवास नहीं तोड़ सकती, उसने एक रिश्ता खो दिया और कई त्योहारों और अनुष्ठानों को खो दिया। वह अपने आंसू पोंछती है और कहती है कि इसे भूल जाओ। बा कहते हैं कि नई समस्या का सामना करना पड़ता है, सभी समाज की महिलाएं मिलकर उपवास तोड़ती हैं और अब नहीं कि काव्या कल क्या समस्या पैदा करेगी।

https://www.hotstar.com/in/tv/anupama/1260022017

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close