Barrister Babu 20 August 2021 Written Update in Hindi : अनिरुद्ध ने बोंदिता के लिए फिर से अपने प्यार को कबूल करने की कोशिश की
Barrister Babu 20 August 2021 Written Update in Hindi

Barrister Babu 20 August 2021 Written Update in Hindi

बैरिस्टर बाबू 20 अगस्त 2021 एपिसोड : बोंदिता उठती है। अनिरुद्ध उसका हाथ पकड़ कर कहता है कि वह पूरी जिंदगी उसके साथ बिताना चाहता है। जीवन जिसमें उसे खोने का डर नहीं है। वह यह कहते हुए अपनी बंदूक नीचे रखता है कि वह इस तरह से जीवन शुरू कर रहा है। उसे शत्रुता पसंद नहीं है, इसलिए वह शत्रुता छोड़ रहा है। कोई दुश्मनी नहीं होगी।

उसने दोस्ती, दुश्मनी पूरी करते देखा, अब वो उसे पूरा प्यार करते हुए देखेगी। बोंदिता सुमति के शब्दों को याद करती है कि अगर उसका प्यार उसके पास आता है तो भी वह कमजोर नहीं होगी। वह बंदूक उठाती है और उससे कहती है कि वह एक शब्द भी नहीं कहेगा, नहीं तो वह खुद को गोली मार लेगी।

चंद्रचूड़ को आश्चर्य होता है कि बोंदिता को इतना समय क्यों लग रहा है। अनिरुद्ध बोंदिता से उसे बंदूक वापस करने के लिए कहता है। वह सिर्फ अपनी भावनाओं को व्यक्त करना चाहता है। वह उसे एक शब्द और नहीं चेतावनी देती है और बंदूक नीचे रख देती है। चंद्रचूर के अंदर जाने से पहले, बोंदिता बाहर आती है और वह छिप जाता है। दर्जी उससे पूछता है कि क्या कपड़े ठीक थे।

वह बिना जवाब दिए चली जाती है। चंद्रचूड़ को आश्चर्य होता है कि ऐसा क्या हुआ कि बोंदिता इतनी घबराई हुई लग रही थी। वह दर्जी से पूछता है कि क्या अंदर कोई और है। अनिरुद्ध यह सुनता है और छिप जाता है। दर्जी चंद्रचूर को ना कहता है, लेकिन वह फिर भी अंदर जाकर चेक करता है। वह अनिरुद्ध को नहीं देखता, लेकिन वहां अपनी बंदूक पाता है।

Barrister Babu 20 August 2021 Written Update in Hindi

वह सोचता है कि प्यार में अक्सर लोग गलतियां कर देते हैं, लेकिन अनिरुद्ध ने मूर्खता की। बोंदिता का प्यार जीतने के लिए उसने अपना हथियार गिरा दिया। इसका फायदा वह जरूर उठाएंगे। वह उसे अपनी ही बंदूक से मार डालेगा और हमेशा के लिए बोंदिता से अलग कर देगा।बोंदिता दुर्गा मां से बात करती है कि अनिरुद्ध ने उसके लिए हथियार गिरा दिया। वह उसके साथ नहीं हो सकती। वह दुर्गा मां को उसकी रक्षा करने के लिए कहती है।

त्रिलोचन बोंदिता का सारा सामान घर से यह कहते हुए निकाल रहा है कि वह उसकी सारी यादें मिटाना चाहता है। अनिरुद्ध वहां आता है और उसे उठाता है। वह टूटा हुआ शीशा उठाता है और चोटिल हो जाता है। खून देखकर त्रिलोचन चिंतित हो जाता है। अनिरुद्ध उसे बताता है कि बोंदिता सिर्फ उन सामानों में नहीं है। वह उसकी रगों में, उसकी सांसों में, उसकी धड़कनों में है। वह त्रिलोचन को उसके दिल में छुरा घोंपने के लिए कहता है। बोंदिता भी वहीं रहती है। त्रिलोचन ने उसे उसके पागलपन के लिए डांटा।

अनिरुद्ध कहते हैं कि उन्होंने अभी तक अपना पागलपन भी नहीं दिखाया। वह पूछता है कि वह बोंदिता की यादों को कहां से मिटाएगा? वह एक विचार बनकर उसके मस्तिष्क में है। वह एक सपना बनकर उसकी आंखों में है। वह शब्द बनकर उसके होठों पर है। दिल की धड़कन से वो उनके दिल में है, उनके हाथों में ताकत से, उनके पैरों में मंजिल बनकर। वह हर जगह है। वह सब उसे कहाँ से मिटाएगा? जब तक जिंदा है वो बोंदिता की यादों को मिटा नहीं सकता। हो सकता है कि उसे मारने के बाद वह जो चाहता है उसे हासिल कर सके।

Watch : Barrister Babu 19 August 2021 Written Update in hindi

Barrister Babu 20 August 2021 Written Update in Hindi

त्रिलोचन उसे बताता है कि वह फिर से पागल हो गया है। अनिरुद्ध कहते हैं कि इस बार प्यार है। वह बोंदिता से अपने प्यार का इजहार करना चाहता है। जिस दिन वह बोंदिता से अपने प्यार का इजहार करने में कामयाब हो जाएंगे, उन्हें एक साथ आने से कोई नहीं रोक पाएगा। वह विचारों से ही मुस्कुराता है। वह त्रिलोचन को बैंड बाजा तैयार करने के लिए कहता है। जल्द ही यह ‘बरिस्त्र’ बाबू का बरात समय होने जा रहा है। वह धूप का चश्मा लगाता है और एक शैली में चला जाता है। त्रिलोचन का मुंह खुला रहता है और वह देखता रहता है।

बोंदिता कहीं जा रही है। बच्चे उसे रोकते हैं। वह पूछती है कि वे वहां क्या कर रहे हैं। उनका कहना है कि वे मेले में आए हैं। बोंदिता पूछती है कि क्या वे अकेले आए थे। अनिरुद्ध नहीं आया? वे कहते हैं नहीं।

बोंदिता सोचती है कि यह अच्छा है कि वह नहीं आया और उसने उसे उससे बात करने से कैसे रोका होगा। अनिरुद्ध छिपकर देख रहा है। बच्चे कहते हैं कि वे बिहारी के साथ आए थे, लेकिन शाश्वती खो गई। बोंदिता कहती है कि चलो उसे ढूंढते हैं। अनिरुद्ध मुस्कुराता है और सोचता है कि आज वह बोंदिता को कबूल कर लेगा।

चंद्रचूड़ को अनिरुद्ध के बोंदिता को मेले में ले जाने के बारे में पता चलता है। वह कहता है कि वह बोंदिता को अपनी भावनाओं को व्यक्त करने से पहले अनिरुद्ध को खत्म कर देगा। वह अनिरुद्ध की बंदूक निकालता है और कहता है, वह भी अपने ही हथियार से।

Barrister Babu 20 August 2021 Written Update in Hindi

बोंदिता बच्चों के साथ मेले में आती है। वह शाश्वती को खोजती है। शास्वती रोने का काम करती है। बोंदिता उसे कहती है कि डरो मत, वह उसके साथ है। अनिरुद्ध ने शाश्वती को इशारा करते हुए कहा कि वह झूले में बैठना चाहती है। बोंदिता कहती है कि वह डरी हुई है। शाश्वती का कहना है कि उसने केवल उसे सिखाया कि उन्हें अपने डर से लड़ना है।

बोंदिता कहती है कि अगर उसने कहा है, तो उसे अभी करना होगा। वे एक फेरिस व्हील पर जाते हैं। शाश्वती बोंदिता को पहले बैठने के लिए कहती है। जैसे ही वह बैठती है, अनिरुद्ध कूद जाता है, उसके साथ बैठता है, और अपनी सीट बंद कर लेता है। पहिया घूमने लगता है। बोंदिता डरी हुई है। अनिरुद्ध ने उसे पकड़ लिया। वह पूछता है कि वह क्यों डर रही है। वह उसके साथ है।

वह उसका हाथ नहीं छोड़ेगा। वह अपना हाथ पीछे खींचती है। वह कहती है कि उसने जानबूझकर ऐसा किया है? क्या उन्हें बच्चों का इस्तेमाल करना गलत नहीं लगा? उनका कहना है कि उन्होंने सुना है कि प्यार और जंग में सब जायज है। उनका कहना है कि प्यार और जंग कोई एक चीज नहीं है। वह कहता है कि हो सकता है कि वह नहीं जानता कि प्यार क्या है, लेकिन जब वह उसे देखता है, तो उसकी तलाश उसके साथ समाप्त होती है। वह उसके साथ पूर्ण महसूस करता है। वह उसके साथ शांति पाता है।

Barrister Babu 20 August 2021 Written Update in Hindi

और इसलिए वह उसे बताना चाहता है कि वह … वह बीच में आती है और पहिया मालिकों को पहिया रोकने के लिए कहती है। अनिरुद्ध उसे बताता है कि यह तब तक नहीं रुकेगा जब तक वह उसे अपनी भावनाओं को व्यक्त नहीं करता। वह सिर्फ एक मौका चाहता है। बोंदिता कहती है कि अगर वे नहीं रुके तो वह कूद जाएगी। अनिरुद्ध उसे ताला खोलने और आगे बढ़ने के लिए कहता है, लेकिन याद रखें कि वह अकेले नहीं कूदेगी। चंद्रचूड़ मेले की ओर चल रहा है। वह बोंदिता की साइकिल देखता है और अंदर चला जाता है।

अनिरुद्ध बोंदिता से कहता है कि अब से वे सब कुछ एक साथ करेंगे। वह कहती है कि वे एक साथ नहीं हो सकते। वे कहते हैं, वे कर सकते हैं और वे करेंगे। वह उसके साथ रहना चाहता है। वह इस दुश्मनी को खत्म करना चाहते हैं।

पूरी दुनिया उन्हें बैरिस्टर बाबू कहती है, लेकिन उनकी दुनिया बैरिस्टर बोंदिता है। वह पूरी दुनिया को बताना चाहता है, लेकिन उससे पहले वह उसे बताना चाहता है कि वह प्यार करता है … वह अपना हाथ उसके मुंह पर रखती है और कहती है, बस। वह अब कुछ नहीं कहेंगे। वह केवल उसकी सुनेगा।

प्यार को जताने से ज्यादा जरूरी है उसे निभाना और वो न तो दिखा सका और न ही निभा सका। उसकी वजह से वह पूरी दुनिया से लड़ी। आज उसके प्यार ने उसे कमजोर बना दिया था। वह उसे पहिया रोकने के लिए कहती है। वह उससे कहता है कि वह हर उतार-चढ़ाव में हमेशा उसके साथ रहेगा। आज वह झूले में बैठने से डरती थी, लेकिन उसके साथ उसका डर कम हो गया। ऐसे ही वह हर हाल में उनके साथ रहेगा।

Barrister Babu 20 August 2021 Written Update in Hindi

चंद्रचूड़ वहां आता है और अनिरुद्ध और बोंदिता को पहिया पर देखता है। उनका कहना है कि आज उनका प्यार ही उनकी मौत का कारण बनेगा। वह अपने पहरेदारों को कुछ निर्देश देता है और पहिए के रुकने का इंतजार करता है। पहरेदार पहिए के मालिकों को पैसे देते हैं और वे पहिए को रोक देते हैं।

सभी बच्चे बाहर आ जाते हैं जबकि अनिरुद्ध और बोंदिता पहिए के ऊपर रहते हैं। कोई कहता है सांप और सब दौड़ते हैं। बच्चे बिहारी के साथ जाते हैं। बोंदिता मदद मांगती है, लेकिन कोई नहीं आता। अनिरुद्ध कहता है कि वह कुछ करेगा।

चंद्रचूड़ कहते हैं, बोंदिता के साथ जितना समय चाहो बिताओ। जल्द ही आप अपनी अंतिम सांस लेंगे और बोंदिता की गोद में ही मरेंगे। बोंदिता कहती है कि सब चले गए। अनिरुद्ध कहते हैं कि यह अच्छा है। हर कोई चाहता है कि उसे एक-दूसरे के साथ क्वालिटी टाइम मिले। वे उसे यह बताने का मौका देना चाहते हैं कि उसके दिल में क्या है।

आज उसे कोई नहीं रोक सकता। वह उसे देखती है। चंद्रचूड़ अनिरुद्ध पर बंदूक तानता है। अनिरुद्ध बोंदिता से कहता है, आई लव.. इससे पहले कि चंद्रचूर एक गोली चला पाता या अनिरुद्ध अपना कबूलनामा पूरा करता, एक जोर की आवाज आती है। एक चट्टान चंद्रचूर के हाथ में लगी और वह वहां से चला गया। बोंदिता अनिरुद्ध को कसकर गले लगा लेती है। वह उससे कहता है कि कुछ नहीं होगा। रिश्ता तेरा मेरा… निभाता है।

image Source & Credit

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close