शहर में अब रात को सफाई कराएगी नगर पालिका, त्यौहारों को देखते हुए बदली व्यवस्था, नए रोड स्वीपर ट्रैक्टर का होगा इस्तेमाल

Datia News : दतिया । दशहरा एवं दीपावली त्यौहार के मद्देनजर नगर पालिका ने भी सफाई कार्य रात में कराए जाने का निर्णय लिया है। जिसके चलते व्यवस्थाओं में परिवर्तन किए गए हैं। बाजारों में त्यौहार की भीड़भाड़ को देखते हुए अब सबेरे और दोपहर में सफाई के स्थान पर नगर पालिका के कर्मचारी रात को ही सफाई करेंगे।

इसके पीछे नगर पालिका का मानना है कि दिन में ट्रेफिक तथा व्यस्त आवागमन को देखते हुए सफाई कार्य का समय बदला जा रहा है।

नगर के 36 वार्डों में समान रूप से सफाई व्यवस्था रहे इस कारण यह परिवर्तन किया गया है। इस बार सफाई के लिए एक नए डंपर और जेसीबी मशीन का उपयोग भी किया जाएगा।

इस परिवर्तन के तहत दिन की बजाय रात को शहर की सफाई की जाएगी। उसमें भी खासकर सघन बस्ती वाले इलाके और बाजारों में यह कार्य सिर्फ रात में ही होगा।

बता दें कि नगर पालिका के पास सफाई कर्मचारियों की काफी कमी है। इस कारण अब जेसीबी मशीन का उपयोग भी किया जाएगा। नगर पालिका में कुल 380 कर्मचारी हैं जिनमें से 150 से लेकर 200 कर्मचारी में सुपरवाइजर और चालक तथा मैट का कार्य कर रहे है।

कुछ बचे हुए सफाई कर्मचारी अधिकारियों के बंगलों पर ड्यूटी दे रहे हैं। ऐसे में 150 से 200 कर्मचारी ही मात्र सफाई व्यवस्था को संभाल रहे हैं।

ट्रैक्टर व मिनी डोर से कराया जा रहा कार्य

शहर में कुल 50 कचरा डंप करने के स्थान है। इन स्थानों पर से कचरा उठाने के लिए अब मैनुअल काम नहीं किया जाएगा। इसके लिए जीसीबी की मदद ली जाएगी।

इसके अलावा पांच ट्रैक्टर एक डंपर और 30 मिनी डोर कचरा उठाने वाली गाड़ियां का उपयोग किया जाएगा। जिन क्षेत्रों में जेसीबी मशीन नहीं जा सकती है, वहां पर नगर पालिका के सफाई कर्मचारी कचरा उठाने का काम करेंगे।

इसके अलावा नगर पालिका को रोड स्वीपर ट्रैक्टर (मशीन रोड पर धूल व कचरा उठाने वाली मशीन) भी मिल गए हैं, जो रोड के आसपास ब्रश घुमाकर सफाई का कार्य करेंगे।

शहर में प्रतिदिन की तुलना में दशहरे से दीपावली तक कचरे की मात्रा दोगुनी हो जाती है। वर्तमान में लगभग 35 से 40 टन तक कचरा प्रतिदिन नगर पालिका के सफाई कर्मचारी ट्रेंचिंग ग्राउंड तक पहुंचाते हैं, जबकि दीपावली पर्व पर 70 से 80 टन कचरा बाजार में होता है।

रोजाना लोगों के घरों की साफ-सफाई होने के कारण वह भी कचरा सड़कों पर ही फेंक दिया जाता है। ऐसी स्थिति में अब रात में ही सफाई की जाएगी।

नपा ने लगाया जुर्माना तो नेताओं के आ गए फोन

नपा सूत्रों के मुताबिक 5 से 6 प्रकरणों में नगर पालिका ने 200-200 रुपये के जुर्माने किए थे। इसे लेकर भी नगर पालिका के कर्मचारियों को राजनीतिक पहुंच का हवाला दिया गया और कुछ नेताओं ने तो वाकई में नगर पालिका के कर्मचारियों को जुर्माना वसूल नहीं करने के लिए फोन भी लगा दिए।

जिसके बाद जुर्माने की कार्रवाई धीमी पड़ गई। नगर पालिका दतिया के स्वच्छता प्रभारी अनुपम पाठक का कहना है कि त्यौहार के दिनों में काफी ट्रेफिक होने के कारण शहर में सफाई संभव नहीं होती है।

ट्रैक्टर ट्राली और जेसीबी मशीन के कारण ट्रैफिक जाम हो सकता है। इसे लेकर अब सफाई सिर्फ रात में की जाएगी। सफाई कर्मचारी कम होने की दशा में मशीनों का ज्यादा उपयोग किया जाएगा।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close