भाई परिवार सहित शादी में गया तो दूसरे भाई ने समेट लिए लाखों के जेबरात, पुलिस ने 24 घंटे में धरदबोचा, माल बरामद

Datia News : दतिया । भाई के परिवार के शादी में जाते ही सूना घर पाकर उसके छोटे भाई ने मौका लगाकर वहां से लाखों के जेबरात, नगदी और मोबाइल चोरी कर लिए। इस घटना की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने छानबीन शुरू की। जिसके बाद जिले की पंडोखर पुलिस ने चोरी की वारदात के दो आरोपितों को गिरफ्तार कर छह लाख 17 हजार रुपये के जेवर, नगदी तथा दो मोबाइल फोन बरामद करने में सफलता हासिल की गई। यह बरामदगी पंडोखर पुलिस ने वारदात के मात्र 24 घंटे के अंदर ही कर ली। पंडोखर थाने को मिली से इस सफलता के पर पुलिस महानिरीक्षक से सम्मान पत्र देने की अनुशंसा भी पुलिस अधीक्षक ने की है।

पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौड़ ने पत्रकार वार्ता में जानकारी देते हुए बताया कि अपराधियों के खिलाफ धरपकड़ अभियान के तहत जिले की पंडोखर थाने ने सफलता हासिल की है। उन्होंने बताया कि फरियादी आशीष कौरव निवासी ग्राम खिरिया आलम ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि वह शादी समारोह में शामिल होने के लिए गांव से बाहर गया था। इसी दौरान घर में ताला डला हुआ था। जब वह वापस लौटा तो उसे पता चला कि घर में रखे 6 लाख 17 हजार रुपये मूल्य के सोने चांदी के कीमती जेवर और मोबाइल फोन गायब है।

चोर समेट ले गए थे जेबरात

फरियादी के मुताबिक उसके घर से चोर एक सोने का हार, सोने का एक बड़ा हार, सोने का मंगलसूत्र, सोने की चेन, चार सोने की अंगूठियां, चार चूड़ियां, चांदी की 2 पायल, एक जोड़ी बृजभाला सोने की तथा चांदी की बिछिया और एक कान का टॉप्स घर की अलमारी से उड़ा ले गए। इसके अलावा दो मोबाइल फोन एंड्राइड के जिसमें जिओ की सिम लगी थी, वह भी गायब थे। फरियादी ने बताया था कि 20 हजार रुपये की नगदी भी नहीं थी। उसके बाद पुलिस ने चोरों का पता लगाने के लिए मुखबिर को इस काम में लगाया। मुखबिर ने पुख्ता सूचना दी, जिस पर पुलिस ने दो आरोपित धर दबोचे।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य ने बताया कि पंडोखर पुलिस ने थाना प्रभारी यादवेंद्र सिंह गुर्जर व उनकी टीम ने समरथ कौरव निवासी दमोह सहित भिंड से दो आरोपित अरविंद पुत्र साधू सिंह कौरव (38) निवासी खिरिया आलम व एक अन्य आरोपित मोनू पुत्र राजेंद्र झा (32) निवासी खिरिया आलम को गिरफ्तार किया। आरोपितों से चोरी किए हुए जेवर तथा दो मोबाइल और दो हजार रुपये नगद बरामद किए गए। इस प्रकार कुल 6 लाख 17 हजार रुपये कीमत का सामान बरामद कर लिया गया। यह पहला मौका है जब पुलिस ने इतनी बड़ी बरामदगी की है।

भाई ही निकला चोर

आरोपितों से पूछतांछ के दौरान अरविंद कौरव ने बताया कि रिश्ते में फरियादी आशीष कौरव उसका भाई लगता है। उसका फरियादी के घर अक्सर आना-जाना रहता था। आरोपित अरविंद ने अपने साथी सोनू के साथ मिलकर चोरी की साजिश रची और फरियादी का सूना मकान देखकर यह सामान चोरी कर लिया। आरोपित अरविंद गौरव सहित अन्य आरोपित पर भी विभिन्न धाराओं के अंतर्गत प्रकरण दर्ज किया गया है। बताया जाता है कि आरोपित अन्य मामलों में भी संलिप्त है। जिले के आसपास हुई चोरियों के संदर्भ में उनसे पूछतांछ की जा रही है। जल्दी और नए खुलासे होने की उम्मीद है।

इस कार्रवाई में पंडोखर थाना प्रभारी यादवेंद्र सिंह गुर्जर, कार्यवाहक उप निरीक्षक मुनीम, सहायक उप निरीक्षक राजेंद्र सिंह यादव, रामज्वार कुशवाहा, कार्यवाहक प्रधान आरक्षक राकेश यादव, आरक्षक हरिमोहन कुशवाहा, सत्येंद्र सिकरवार तथा महेश कौरव की भूमिका रही।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close