चाचा शिवपाल के लिए सीट छोड़ेंगे पूर्व सीएम अखिलेश यादव , दिया जायेगा पूरा सम्मान

मैनपुरी : उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लंबे समय से चले आ रहे पारिवारिक मतभेदों को भुलाकर साफ कर दिया कि चाचा शिवपाल का वह पूरा सम्मान करते हैं। उनके दल के लिए सपा सीट जरूर छोडे़गी। कई बार फोन पर भी वह उनसे इस संबंध में बात कर चुके हैं।

भाजपा सरकार पर मैनपुरी की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि सपा जिले में पुलिस और सेना की भर्ती रैली कराती थी। जिले के सर्वाधिक युवा पुलिस और सेना की सेवा में हैं।

भाजपा द्वारा ये दोनों भर्तियां बंद करा दी गई हैं। किसानों के लिए एक बड़ी मंडी करहल विधानसभा क्षेत्र में बनवाई जा रही थी।

वह भी आज तक अधूरी है। जो वादे किए थे, उन्हें पूरा करने के बजाय किसानों और बेरोजगारों का शोषण किया जा रहा है।

आरएसएस पर भी साधा निशाना पूर्व मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा आरएसएस का पालिटिकल आउटफिट है। जो कि एक प्रकोष्ठ की तरह से काम कर रही है। 

मैं हिंदू हूं, अगरबत्ती जलाकर ही निकलता हूं पत्रकारों द्वारा हिंदुत्व के मुद्दे पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए अखिलेश ने कहा कि मैं भी हिंदू हूं और घर से निकलने से पहले रोज अगरबत्ती जलाता हूं। भाजपाई बता दें कितनी पूजा करते हैं।

गाय और गंगा पर भी दी सलाह उन्होंने कहा कि गंगा मां का सम्मान होना चाहिए, लेकिन गंगा मइया की सफाई के साथ यमुना, चंबल और ईशन की सफाई भी जरूरी है।

इन नदियों में नालों का पानी छोड़ा जा रहा है, जो जाकर गंगा को ही गंदा करता है। अगर भाजपा सच में गंगा मां की चिंता करती है तो पहले नदियों में जाने वाले नालों को रोके। 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close