भारत के राजदूत विक्रम मिस्री ने शंघाई में भारतीय उद्यमियों के साथ बैठक की

नई दिल्ली। चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिस्री ने शंघाई में भारतीय उद्यमियों के साथ बातचीत की। बैठक में कपड़ा, इलेक्ट्रॉनिक, विनिर्माण, रसायन, IT और बैंकिंग क्षेत्रों के 30 से अधिक प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। इसमें वर्तमान परिदृश्य में व्यापार जोखिम से निपटने पर चर्चा हुई। चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिस्री ने कल शंघाई में भारतीय उद्यमियों के साथ बैठक की। बैठक में कपड़ा, दवा, इलेक्ट्रॉनिक्स, विनिर्माण, रसायन, सूचना और प्रौद्योगिकी और बैंकिंग क्षेत्रों के 30 से अधिक प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। इसमें वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में व्यापार जोखिम से निपटने के उपायों पर चर्चा हुई। लद्दाख में सीमा तनाव के बीच, भारत ने पिछले साल चीन से निवेश संबंधी प्रावघानों को कड़ा कर दिया था और 200 से अधिक चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध भी लगा दिया था।
   
भारत से चीन को निर्यात होने वाली वस्तुओं में कपास, तांबा, हीरे और प्राकृतिक रत्न शामिल हैं। समय के साथ, इन कच्चे माल-आधारित निर्यात पर चीन से आयातित वस्तुएं जैसे मशीनरी, बिजली से संबंधित उपकरण, दूरसंचार उपकरण, कार्बनिक रसायन और उर्वरक भारी पडने लगीं। भारत लगातार चीन से अपने उस आश्वासन को अमल में लाने का अनुरोध करता रहा है जिसमें भारतीय कृषि उत्पादों पर लगाए गए करों को हटाने की बात कही गई है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter