अंधविश्वासः गांव में नहीं हुई बारिश; देवता को खुश करने के लिए बच्चियों को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया

जबलपुर : मध्य प्रदेश में दमोह जिले के एक गांव में बारिश न होने पर टोना-टोटका करते हुए तीन-चार साल की छोटी बच्चियों को निर्वस्त्र कर घुमाने का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि रविवार सुबह गांव की महिलाएं एकत्रित हुई और छोटी बच्चियों को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया।

इसके बाद गांव के माता मंदिर पहुंचकर खेर माता को गोबर से ढंक दिया और अनाज कू टने वाले मूसल को उल्टा टिका दिया। यह पूरी प्रक्रिया बच्चियों से करवाई गई। इसके बाद महिलाओं ने कीर्तन शुरू कि या।

गांव के लोगों की मान्यता है कि ऐसा करने से बारिश होती है। बुंदेलखंड क्षेत्र में अक्सर ऐसे टोटके किए जाते हैं। दमोह पुलिस अधीक्षक डीआर तेनिवार के मुताबिक यह अंधविश्वास है। इस तरह नाबालिग बच्चियों को निर्वस्त्र कर नहीं घुमाया जा सकता। मामले की जांच की जा रही है।

यह मामला दमोह जिले की जबेरा तहसील के अंतर्गत बनिया गांव का है. यहां धान की फसल सूखने पर पहले तो गांव की महिलाएं एकत्रित हुईं. फिर उसके बाद में उन्होंने मूसल पर मेंढक को रस्सी से बांधकर उल्टा टांगा और अपने घरों की करीब छह छोटी-छोटी बच्चियों के कपड़े उतरवाए. फिर जिस मूसल पर मेंढकी को टांगा गया था, उसे बच्चियों के कंधे पर रख दिया गया और बच्चियों को पूरे गांव में घुमाया.

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close