गांव में रहकर लोगों का जीवन बदल रहे सुरजीत लोधी, मिला ब्रिटेन का प्रतिष्ठित डायना अवार्ड

भोपाल : मध्य प्रदेश में विदिशा जिले के आदिवासी बाहुल्य गांव साहबा में रहने वाले सुरजीत लोधी (17) को ब्रिटेन के प्रतिष्ठित डायना अवार्ड से सम्मानित किया गया है। सोमवार को वर्चुअल माध्यम से आयोजित एक समारोह में यह पुरस्कार प्रदान किया गया।

कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेंस फाउंडेशन (केएससीएफ) द्वारा संचालित बाल मित्र ग्राम के पूर्व बाल मजदूर और वर्तमान में राष्ट्रीय बाल पंचायत के उपाध्यक्ष 17 वर्षीय सुरजीत लोधी को सामाजिक बदलाव में उल्लेखनीय कार्य के लिए यह पुरस्कार दिया गया है। उन्होंने न केवल अपने गांव के बल्कि आसपास गांवों के 120 बच्चों को स्कूलों में दाखिला दिलाया।

वहीं, ग्राम पंचायतों के सहयोग से शराब की पांच दुकानें बंद कराई। इसके अलावा कोरोना टीकाकरण के लिए भी ग्रामीणों को जागरूक करने का काम किया। फाउंडेशन के समन्वयक प्रवेश शर्मा ने बताया कि डायना पुरस्कार वेल्स की दिवंगत राजकुमारी डायना की स्मृति में दिया जाता है। 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close