नॉर्वे का आरोप: चीन ने संसद से जुड़े ईमेल खातों में लगाई सेंध

ओस्लो, एएनआइ : नार्वे के विदेश मंत्री इने एरिक्सन ने मंत्रालय को सूचित किया है कि देश की संसद पर साइबर हमले को लेकर चीन के राजदूत को तलब किया गया है। 10 मार्च को स्टोरिंग (नार्वे की संसद) ने बताया था कि उसकी ईमेल प्रणाली के साथ छेड़छाड़ की गई है।

माइक्रोसाफ्ट एक्सचेंज साफ्टवेयर की नाजुक सुरक्षा में सेंध लगाई गई थी। विदेश मंत्रालय ने एरिक्सन के हवाले से कहा है, ‘सभी साइबर आपरेशन विभिन्न तरह के निशान छोड़ते हैं और तब अन्य बातों के अलावा हमारी सुरक्षा एजेंसियां उसका आकलन करती हैं और उसकी सूचनाएं जुटाती हैं।

उसी सूचना के आधार पर सरकार ने एक आकलन किया है कि वह हमला चीन से किया गया था।’ एरिक्सन ने कहा है, ‘यह एक गंभीर घटना है थी जिसने हमारी सबसे महत्वपूर्ण लोकतांत्रिक संस्था को प्रभावित किया है। हम उम्मीद करते हैं कि चीन इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए सुनिश्चित करेगा कि ऐसी घटना दोबारा नहीं होगी।’

Photo of the Remarkables mountain range in Queenstown, New Zealand.

मार्च में चीन के हैकरों ने आस्ट्रेलिया के पश्चिमी संसदीय ईमेल नेटवर्क पर हमला किया था। यह माइक्रोसाफ्ट साफ्टवेयर से दुनिया के सबसे बड़े हमले के तहत किया गया था।

चार मार्च को चुनाव प्रचार के बीच में इस आनलाइन हमले का पता चला और इसके बाद कैनबेरा में आस्ट्रेलिया के साइबर सिक्यूरिटी वाचडाग को आनन-फानन में हस्तक्षेप करना पड़ा। 

चीन ने अफगानिस्तान में नया विशेष दूत नियुक्त किया बीजिंग, प्रेट्र : चीन ने बुधवार को अफगानिस्तान में अपने विशेष दूत को बदलने की घोषणा की।

युद्ध से जर्जर देश से अमेरिकी सैनिकों की वापसी का चीन के शिनजियांग प्रांत पर बुरा प्रभाव पड़ने की चिंता के बीच बीजिंग ने यह कदम उठाया है। शिनजियांग में उइगर मुस्लिम आतंकियों से खतरा पैदा हो गया है।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजिआन ने घोषणा की कि अफगानिस्तान में वर्तमान विशेष दूत लिउ जिआन की जगह कतर, जार्डन और आयरलैंड में चीन के राजदूत रह चुके यूए सिआओ योंग को विशेष दूत नियुक्त किया गया है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close