पीएम ने छात्रों के बीच अचानक पहुंचकर सबको चौंकाया, परीक्षा रद्द करने को लेकर टटोला छात्रों का मन, सबने कहा सही फैसला

नई दिल्ली । सीबीएसई की बारहवीं की बोर्ड परीक्षा को रद्द करने के फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को छात्रों और अभिभावकों के साथ एक वर्चुअल बैठक में अचानक हिस्सा लेकर सबको चौंका दिया। एक मित्र की तरह उनकी राय भी जानी, भविष्य के बारे में भी पूछा और हंसी मजाक भी किया। उन्होंने जानना चाहा कि छात्र परीक्षा रद्द करने के फैसले को किस तरह से देख रहे है। अचानक से पढ़ाई में आए इस खालीपन को कैसे भरेंगे।

इस पर छात्रों ने कहा कि परीक्षा रद्द करने के फैसला बिल्कुल सही कदम था और इससे उनका तनाव खत्म हो गया है। अब वे प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी को और समय दे सकेंगे। शिक्षा मंत्रालय की ओर से बारहवीं के देश भर के चुनिंदा छात्रों और उनके परिजनों के साथ वर्चुअल बैठक आयोजित की गई थी। बैठक के लगभग बीस मिनट गुजरने के बाद प्रधानमंत्री की एंट्री हुई तो सभी चौंक गए, क्योंकि यह कार्यक्रम में शामिल नहीं था।

बैठक में अचानक पीएम से पहुंचने से छात्र और अभिभावक भी भौंचक्के रह गए। पीएम ने इस दौरान छात्रों और अभिभावकों के साथ परीक्षा सहित पढ़ाई और जीवन से जुड़े दूसरे विषयों पर खुलकर चर्चा की। पीएम ने इस दौरान छात्रों से परीक्षा को लेकर पैदा होने वाली टेंशन पर भी चर्चा हुई है। साथ ही छात्रों को सलाह दी कि पढ़ाई को लेकर टेंशन लेना ठीक नहीं है। पीएम ने इस दौरान छात्रों के रुख को भी सराहा और कहा कि देश के लिए यह अच्छी बात है कि देश के युवा सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ रहा है। छात्रों को टीम भावना का भी मंत्र दिया और कहा कि यह देश के लिए एक बड़ी ताकत है। मिलकर और एकजुट होकर आगे बढ़ना है।

इस दौरान तब हंसी का गुब्बारा फूट पड़ा जब प्रधानमंत्री ने छात्रों से कहा कि परीक्षा को लेकर तनाव तो नहीं था। एक छात्र ने कहा कि उसे तनाव था तो प्रधानमंत्री ने कहा अरे भाई तब तो मेरी परीक्षा वारियर किताब लिखना बेकार हो गया। इस दौरान छात्रों और अभिभावकों ने परीक्षा रद्द करने का समर्थन किया और कहा कि हमारे लिए पहले अपने को बचाने की जरुरत है। ज्ञान है तो वह आगे भी काम आएगा। वैसे भी यह जिंदगी की कोई अंतिम परीक्षा नहीं है। अभिभावकों ने भी पीएम से परीक्षा रद्द करने के फैसले की जमकर तारीफ की। पीएम ने इस दौरान छात्रों से मास्क लगाने को लेकर सवाल किया। जिस पर छात्रों ने जरुरी बताते हुए दूसरे लोगों को भी जागरूक करने की जानकारी दी।

छात्रों और अभिभावकों के साथ पीएम की वर्चुअल चर्चा में एक अभिभावक ने पीएम से मुखातिब होते हुए कहा कि आपसे मिलना, शाहरुख खान से मिलने से भी ज्यादा अच्छा लग रहा है। इस पर पीएम मुस्कराए। अभिभावक ने इस दौरान पीएम के परीक्षा रद्द करने के फैसले को सही बताया और कहा कि वैसे भी उन्हें उम्मीद है आप जो करेंगे, वह अच्छा ही होगा। एक अभिभावक ने अनुच्छेद 370 रद्द करने की प्रशंसा की तो पीएम ने उन्हें रोकते हुए कहा आज केवल परीक्षा पर चर्चा करें।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close