विघ्नहर्ता के दरबार में उमड़ी भक्तों की भीड़, शहर के बड़े गणेश मंदिर में हुआ छप्पन भोग का आयोजन, आकर्षक सजावट की गई

Datia News : दतिया। शुक्रवार को गणेश चतुर्थी का पर्व शहर सहित ग्रामीण अंचल में पूरे श्रद्धाभाव के साथ मनाया गया। शहर में ठंडी सड़क िस्थत बडे़ गणेश मंदिर पर सुबह से ही भक्तों का तांता लग गया। यहां देर शाम तक भगवान गणेश के दर्शन के लिए भक्त पहुंचते रहे। मंदिर पर भजनों का संगीतमय आयोजन भी किया गया था।

रंग बिरंगे गुब्बारों के बीच भगवान श्री गणेश की प्रतिमा का मनोहारी श्रृंगार श्रद्धालुओं के आकर्षण का केंद्र रहा। मंदिर पर छप्पन भोग का भी आयोजन किया गया।

चतुर्थी तिथि से एक दिन पूर्व हरितालिक तीज का व्रत महिलाओं द्वारा किया गया। इस दौरान रात भर जागरण कर महिलाओं ने भजन कीर्तन कर भगवान शिव एवं पार्वती की पूजा अर्चना की। अगले दिन गणेश चतुर्थी का पर्व धूमधाम से मनाया गया।

इसके साथ ही गणेशोत्सव की भी शुरुआत हो गई। अगले दस दिन अनंत चतुर्दशी तक गणेशोत्सव मनाया जाएगा। दतिया नगर में गणेशोत्सव के दौरान सार्वजनिक स्थलों पर भी गणेश प्रतिमाओं को स्थापित किया जाएगा।

जिसके लिए प्रशासन ने हाल ही में सम्पन्न हुई बैठक में कोविड गाइडलाइंस के तहत निर्देश भी जारी किए थे। प्रशासन से अनुमति लेने के बाद ही गणेश पंडाल स्थापित किए गए हैं। वहीं भांडेर, सेवढ़ा, इंदरगढ़ में भी गणेशोत्सव की धूमधाम शुरू हो गई है। हालांकि इस बार कोरोना गाइड लाइन के चलते कुछ पाबंदी का आयोजकों को पालन अनिवार्य किया गया है।

दतिया शहर में गोविंद गंज मार्ग िस्थत रामजी मंडपम, ठंडी सड़क, चूनगर फाटक आदि स्थानों पर गणेश पंडाल में भगवान गजानन की मूर्ति विराजमान कराई गई है।

वहीं भांडेर में महाराष्ट्रीयन चतुर्वेदी परिवार द्वारा नगर के सराफा बाजार में सार्वजनिक रूप से गणेशोत्सव मनाने की परंपरा के चलते इस बार 27वां गणेशोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। सेवढ़ा व इंदरगढ़ कस्बों में भी गणेश पंडाल सजाए गए हैं। इसके साथ ही घरों में भी भगवान गणेश की मूर्तियां विराजमान कराकर पूजा अर्चना की गई।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close