आनलाइन बैकिंग कर रहे हैं तो इस तरह बचें साइबर क्राइम से, एसबीआई ने सुझाए खास तरीकें

New Delhi News : नई दिल्ली । आनलाइन बैंकिंग के दौरान साइबर क्राइम की घटनाएं बढ़ने लगी है। जिसे देखकर बैंकांे ने भी सुरक्षात्मक तरीके अपनाने शुरू कर दिए हैं। इसे लेकर उपभोक्ताओं को भी जानकारी दी जा रही है। ताकि वह इस तरह के क्राइम से बच सकें और उनके साथ धोखाधड़ी न हो। एसबीआई ने भी साइबर क्राइम से बचने के तरीके अपने उपभोक्ताओं को सुझाए हैं। जिन्हें अपनाकर वह धोखाधड़ी से बच सकेंेगे।

आनलाइन बैकिंग और डिजिटल ट्रांजैक्शन काफी सुरक्षित और आसान तरीका है, लेकिन इसमें कभी-कभी धोखाधड़ी का शिकार बनने का खतरा होता है। ऐसे में बैंक अक्सर आपको साइबर क्राइम, ऑनलाइन धोखाधड़ी के खिलाफ सजग करते रहते हैं। खासकर, कोविड-19 महामारी के चलते जब ज्यादतर जनता और भी ज्यादा ऑनलाइन माध्यमों पर निर्भर हुई है तो धोखाधड़ी के मामले और बढ़ गए हैं।

प्रमुख सरकारी बैंक स्टेट बैंक आफ इंडिया पिछले कुछ दिनों से लगातार अपने ग्राहकों को इसे लेकर चेता रहा है। बैंक ने फिर से अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट किया है। 

बैंक ने अपने ट्वीट में कहा है कि ‘जब निजी जानकारी की बात आती है तो, शेयरिंग इज़ नॉट केयरिंग’ बैंक ने एक वीडियो शेयर करके अपने ग्राहकों के साथ कुछ जरूरी टिप्स शेयर किए हैं, जिनका ध्यान रखते हुए वो अपने बैंक अकाउंट और जमा-पूंजी की सुरक्षा कर सकते हैं। बैंक ने कहा कि कस्टमर्स को हमेशा याद रखना चाहिए कि उनकी निजी जानकारी हमेशा प्राइवेट होनी चाहिए।

इस तरह बच सकते हैं साइबर क्राइम से

– सबसे पहली बात अपनी कोई भी बैंकिंग डिटेल्स सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर नहीं करें। 

– किसी भी अकाउंट या रिसीवर की प्रमाणिकता जांचे बिना उसे पैसे न भेजें।

– किसी भी अनवेरिफाइड लिंक पर क्लिक न करें या किसी संदिग्ध ईमेल को न खोलें।

– अपने डेबिट कार्ड की डिटेल्स या फिर INB क्रिडेंशियल्स किसी के साथ शेयर न करें। 

– हमेशा फर्जी मैसेज वगैरह को लेकर सावधान रहें।

– अपना कोई भी ऐसा सर्टिफिकेट वगैरह सोशल मीडिया पर अपलोड न करें, जिसमें आपकी कोई निजी जानकारी हो।
इसके साथ ही अगर आप साइबर क्राइम के शिकार हो गए तो आपको इसकी जानकारी www.cybercrime.gov.in पर जरूर देनी चाहिए।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close