पंजाब साधने की तैयारी : अरविंद केजरीवाल के तीन एलान, 300 यूनिट मुफ्त, पुराने बकाया बिल माफ और 24 घंटे बिजली

चंडीगढ़ : दिल्ली के मुख्यमंत्री व आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल पंजाब में सभी बिजली उपभोक्ताओं को 2022 में आप की सरकार बनने पर 300 यूनिट मुफ्त बिजली देने का एलान करने के कुछ ही घंटे बाद पलट गए।

दरअसल, मंगलवार दोपहर यहां मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने एलान किया कि पंजाब में हर घर को 300 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाएगी लेकिन अगर उपभोक्ता ने 301 यूनिट का उपयोग किया तो सभी यूनिटों का बिल अदा करना पड़ेगा।

पत्रकारों के दो बार सवाल करने पर केजरीवाल ने अपने इसी दावे को दोहराया, लेकिन जब भाजपा और शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने केजरीवाल पर हमला किया तो वह शाम को पलट गए।

केजरीवाल के इस एलान पर शिअद से पूर्व मंत्रियों बिक्रम मजीठिया और डा. दलजीत सिंह चीमा तथा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने कहा कि पंजाब में पहले से ही अनुसूचित जाति (एससी), पिछड़ा वर्ग (बीसी) और गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवारों से तो 200 यूनिट बिजली का बिल लिया ही नहीं जाता।

चाहे बिजली की खपत 200 यूनिट से इससे ज्यादा ही क्यों न हुई हो। सवाल खड़े होने पर केजरीवाल ने कहा कि एससी, बीसी और बीपीएल परिवारों को 300 यूनिट बिजली निश्शुल्क दी जाएगी।

इसके बाद अतिरिक्त यूनिट का ही बिल वसूल किया जाएगा। सामान्य वर्ग को 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली दी जाएगी लेकिन अगर उनका बिल 301 यूनिट का बनता है तो उन्हें सभी 301 यूनिट का भुगतान करना पड़ेगा।

इससे पहले केजरीवाल ने कहा कि हमें लोगों के 50 हजार से लेकर एक लाख रुपये तक बिल आने की शिकायतें मिली हैं। सरकार बनने पर इन बिलों को भी ठीक किया जाएगा।

सभी दलों की ओर से मुफ्तखोरी को बढ़ावा देने के सवाल पर केजरीवाल ने कहा कि यह सवाल 2013 में दिल्ली में हमारी सरकार बनने पर किया गया था, लेकिन हमने साबित किया है कि भ्रष्टाचार को बंद करके लोगों को राहत दी जा सकती है।

पंजाब में निजी थर्मल प्लांटों के साथ सरकार के 25 साल के एग्रीमेंट के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह तैयारी करके आए हैं और हवा में बात नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने किसानों को मुफ्त बिजली जारी रखने की बात भी कही। बेअदबी मसले पर कहा कि मौजूदा सरकार और अकाली दल मिले हुए हैं।

दिल्ली का फ्लाप माडल पंजाब लाना चाहते हैं केजरीवाल: शिअद अकाली नेताओं बिक्रम सिंह मजीठिया और डा. दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि केजरीवाल दिल्ली का फ्लाप और ठगी वाला माडल पंजाब में लाना चाहते है।

उन्होंने सवाल किया कि आप सरकार दिल्ली में किसानों को मुफ्त बिजली क्यों नहीं दे रही? मजीठिया ने कहा कि केजरीवाल अब मोहल्ला क्लीनिक का मुद्दा भी इसलिए नहीं उठाते क्योंकि कोविड में 280 मोहल्ला क्लीनिक बंद हो चुके हैं।

डा. दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि 2017 में केजरीवाल ने नशे का मुद्दा उठाकर लोगों को गुमराह किया और बाद में बिक्रम सिंह मजीठिया से लिखित माफी मांगी।

वहीं बेअदबी मामले की जांच का राजनीतिकरण करने वाले अधिकारी के आप में शामिल होने पर पार्टी की पोल खुल गई है। पंजाब की जनता को गुमराह न करें केजरीवाल : भाजपा भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने कहा है कि केजरीवाल पंजाब के लोगों को गुमराह कर रहे हैं।

केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से किए वादे पूरे नहीं किए। इस बार दिल्ली चुनाव में उनकी हार सुनिश्चित है। वह अपना आधार बचाने के लिए पंजाब की तरफ मुंह कर रहे हैं लेकिन पंजाब की जनता उनके इन झूठे वादों पर एतबार नहीं करेगी। 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close