अनुराग सिंह ठाकुर ने 14,000 युवा स्वयंसेवकों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का किया शुभारंभ ,संचार कौशल, आदि से संबंधित मॉड्यूल शामिल

नई दिल्ली : केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने आज शास्त्री भवन, दिल्ली में एनवाईकेएस के पूरे देश में 14,000 युवा स्वयंसेवकों के ऑनलाइन क्षमता निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत करते हुए कहा, “एनवाईकेएस के प्रशिक्षित युवा स्वयंसेवक उन ‘पांच प्रणों’ को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे, जिनके बारे में प्रधानमंत्री जी ने अपने स्वतंत्रता दिवस भाषण के दौरान बात की थी।”

मंत्री महोदय ने कहा, “इस प्रशिक्षण कार्यक्रम की विषय वस्तु को सावधानीपूर्वक तैयार किया गया है और इसमें संचार कौशल, नेतृत्व कौशल, निर्णय लेने आदि पर गहन अभ्यास शामिल हैं। आज यहां मौजूद सभी युवा अपने-अपने क्षेत्रों में भविष्य के लीडर बनने जा रहे हैं, चाहे वे समाज सेवा, राजनीति, उद्यमिता जैसे किसी भी क्षेत्र को चुनें। इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम युवाओं को एक समग्र शिक्षा देंगे और उनके ज्ञान को बढ़ाने में मदद करेंगे ताकि वे उद्योगों के लिए तैयार हो सकेंगे। इस उद्देश्य के साथ कि आने वाले समय में भारत को दुनिया का सबसे बड़ा कुशल कार्यबल बनाया जा सके।”

मंत्री महोदय ने रेखांकित किया कि इस महत्वाकांक्षी ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्देश्य एनवाईकेएस के युवा स्वयंसेवकों के जीवन कौशल को बढ़ाना और क्षमता का निर्माण करना है ताकि वे अपने व्यक्तित्व को विकसित करने के अलावा सार्थक भूमिका निभा सकें और राष्ट्रीय विकास प्रक्रिया में योगदान दे सकें।

युवा कार्यक्रम विभाग, एनवाईकेएस, सीबीसी (क्षमता निर्माण आयोग) और यूनिटार (संयुक्त राष्ट्र प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान) के बीच ये अनूठी सहयोगी पहल कोविड महामारी के चुनौतीपूर्ण समय की पृष्ठभूमि में सोची गई थी जब प्रत्यक्ष रूप से भागीदारी प्रतिबंधित थी। चूंकि एनवाईकेएस के युवा स्वयंसेवकों से इस समय के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की उम्मीद की गई थी, ऐसे में वर्चुअल माध्यम ने उन्हें इन दी गई जिम्मेदारियों के प्रति संवेदनशील बनाने के लिए खासा ज़रूरी मंच प्रदान किया।

इस ऑनलाइन प्रशिक्षण के कार्यान्वयन के हिस्से के तौर पर सीबीसी, यूनिटार ने एनवाईकेएस के साथ परामर्श से ये प्रशिक्षण मॉड्यूल तैयार किया और जनवरी 2022 के दौरान 100 युवा स्वयंसेवकों के बीच इसकी व्यवहार्यता का परीक्षण किया गया। इसमें भाग लेने वाले युवा स्वयंसेवकों की प्रतिक्रिया के आधार पर और एनवाईकेएस कार्यक्रम के टेम्पलेट को देखते हुए इस मॉड्यूल को संशोधित किया गया है।

इस कार्यक्रम के शुभारंभ की शुरुआत में युवा कार्यक्रम के संयुक्त सचिव और एनवाईकेएस के महानिदेशक  नितेश कुमार मिश्रा ने संक्षेप में बताया कि युवाओं की कौशल प्राप्ति के जरिए क्षमता निर्माण पहल दरअसल युवा कार्यक्रम विभाग और एनवाईकेएस के दखल वाले प्राथमिकता क्षेत्रों में से एक रहा है ताकि युवा सशक्तिकरण के निहित लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके।

सीबीसी के सदस्य (प्रशासन)  प्रवीण परदेशी ने ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रस्तावित रोडमैप को संक्षेप में बताया। यूनिटार के सीईओ  मुकुल भोला ने युवा कार्यक्रम विभाग और एनवाईकेएस को इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होने एवं इसका जिम्मा संभालने के लिए बधाई दी। इसके बाद यूनिटार के डॉ. लायल ने एक प्रस्तुतीकरण दिया जिसमें प्रशिक्षण मॉड्यूल के बारीक और सूक्ष्म स्तर के ऑपरेशनल ब्यौरे बताए गए और साझा किए गए। युवा कार्यक्रम सचिव  संजय कुमार ने युवाओं के व्यक्तिगत विकास और उनकी क्षमता के अधिकतम उपयोग के लिए पर्याप्त रूप से प्रशिक्षण और कौशल प्रदान करने की आवश्यकता पर जोर दिया। इस कार्यक्रम के दौरान मॉड्यूल की व्यवहार्यता का आकलन करने के लिए पहले आयोजित टेस्ट रन का हिस्सा रहे दो युवा स्वयंसेवकों ने बताया कि इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम अत्यंत महत्वपूर्ण हैं और इसलिए युवाओं के क्षमता निर्माण के लिए आवश्यक हैं क्योंकि अब वे स्थिति से निपटने में खुद के अंदर सुधार महसूस कर रहे हैं और साथ ही विभिन्न कार्यों का सफलतापूर्वक संचालन कर रहे हैं।

बड़ी संख्या में युवा स्वयंसेवक, युवा कार्यक्रम एवं खेल विभाग और एनवाईकेएस के अधिकारियों ने वर्चुअल रूप से देश भर में क्षमता निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रम के ऑनलाइन लॉन्च में हिस्सा लिया।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close