कोयला घोटाला: ईडी ने अभिषेक बनर्जी से नौ घंटे की पूछताछ, बोले- हम और मजबूती से लड़ेंगे

कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे व तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद अभिषेक बनर्जी से कोयला घोटाले से संबंधित मामले में सोमवार को दिल्ली में नौ घंटे तक पूछताछ की गई। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उनसे विदेश में बैंक खातों से लेकर कोयला घोटाले के आरोपित अनूप मांजी उर्फ लाला व विनय मिश्रा से संबंधों को लेकर सवाल पूछे।

जांच अधिकारी ने मनी लांड्रिंग निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत उनके बयान दर्ज किए। जानकारी के अनुसार टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी दिल्ली के जामनगर हाउस स्थित केंद्रीय एजेंसी के कार्यालय में सुबह 11 बजे से पहले ही पहुंच गए। इसके बाद उनसे ईडी के अधिकारियों ने करीब नौ घंटे तक पूछताछ की।

अभिषेक रात करीब आठ बजे ईडी कार्यालय से बाहर निकले। सूत्रों ने बताया कि अभिषेक से थाईलैंड स्थित बैंक के खातों से लेकर कोयला घोटाले के मुख्य आरोपित अनूप माजी व फरार चल रहे तृणमूल कांग्रेस के पूर्व नेता विनय मिश्रा से उनके कथित संबंधों को लेकर सवाल किए गए।

इसके साथ ही और भी सवाल पूछे गए। इस दौरान ईडी ने जानना चाहा कि विनय मिश्रा अभी कहां है। लाला के अकाउंटेंट नीरज सिंह के यहां से बरामद हुए दस्तावेजों को लेकर भी अभिषेक से पूछताछ की गई।

2019 के लोकसभा चुनाव के समय जमा किए गए हलफनामे में दी गई जायदाद की जानकारी को लेकर भी उनसे सवाल किए गए। इसके अलावा देश और विदेश में मौजूद उनकी संपत्तियों के बारे में जानने की कोशिश की गई।

लाला व विनय मिश्रा के साथ संबंधों को नकारा ईडी सूत्रों के अनुसार, अभिषेक ने लाला व विनय मिश्रा के साथ संबंधों को नकारते हुए ज्यादातर सवालों के जवाब ‘नहीं जानता’ के रूप में दिया। उनसे पूछताछ की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी की गई। इससे पहले ईडी कार्यालय पहुंचने पर अभिषेक ने कहा कि मैं जांच का सामना करने को तैयार हूं और एजेंसी के साथ सहयोग करूंगा।

पूछताछ के बाद अभिषेक ने केंद्र पर बोला हमला पूछताछ के बाद ईडी कार्यालय से बाहर निकलते ही अभिषेक ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आप ईडी, सीबीआइ, इनकम टैक्स.. जो मर्जी लगा दो, हम थकने व डरने वाले नहीं हैं। मैंने शुरुआत से यह कहा है कि मैं कोई भी जांच का सामना करने के लिए तैयार हूं।

अगर मेरे खिलाफ अवैध लेनदेन के कोई सुबूत मिलें तो फांसी पर चढ़ जाउंगा। हालांकि अंदर क्या बात हुई इस बारे में बताने से उन्होंने इन्कार किया। उन्होंने आगे यह जरूर कहा कि बंगाल में 25 भाजपा विधायक संपर्क में हैं। 2024 में हम भाजपा को हराएंगे।

सीबीआइ की प्राथमिकी के बाद ईडी ने दर्ज किया था मामला गौरतलब है कि ईडी ने सीबीआइ की नवंबर, 2020 की एक प्राथमिकी पर गौर करने के बाद पीएमएलए की आपराधिक धाराओं के तहत यह मामला दर्ज किया था। सीबीआइ की प्राथमिकी में आसनसोल और उसके आसपास कुनुस्तोरिया और कजोरा इलाकों में ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की खदानों से संबंधित करोड़ों रुपये का कोयला चोरी घोटाले का आरोप लगाया गया है।

ईडी ने अभिषेक की पत्नी को भी किया था तलब इस मामले में ईडी ने अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा को भी एक सितंबर को पूछताछ के लिए दिल्ली तलब किया था, लेकिन उन्होंने कोरोना महामारी का हवाला देकर दिल्ली जाने से मना कर दिया था।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close