सरकार में आते ही तालिबान अराजक : महिलाओं पर टूट रहा कहर,प्रदर्शन में जाने पर अधिकार कार्यकर्ता पर बरसाए कोड़े

काबुल : तालिबान ने सरकार बनते ही क्रूरता की सारी हदों को पार कर दिया है। कंधार में एक महिला डाक्टर के घर में घुसकर तालिबान ने जबर्दस्त तोड़फोड़ की, महिला और उसके परिवार को कई घंटे तक यातना दीं। बाद में उसके परिवार के चार सदस्यों और एक पड़ोसी को उठा ले गए।

एक अन्य घटना में महिलाओं के प्रदर्शन में भाग लेने पर एक अधिकार कार्यकर्ता की बेरहमी से पिटाई की, उस पर कोड़े बरसाए। कंधार की रहने वाली महिला डाक्टर फाहिमा रहमती शहर की बड़ी डाक्टर और अधिकार कार्यकर्ता हैं। वह चैरिटी के लिए होप फाउंडेशन संस्था चलाती हैं।

इस संस्था के माध्यम से वह गरीब लोगों की मदद करती हैं। इनके घर में अचानक तालिबान ने धावा बोल दिया। घटना के संबंध में एक अधिकार कार्यकर्ता ने वीडियो वायरल किया है। वीडियो में फाहिमा ने पूरी घटना की जानकारी दी है।

इस वीडियो में उनके घर में जबर्दस्त तोड़फोड़ भी दिखाई दे रही है। डा. फाहिमा ने बताया कि उनके घर अचानक तालिबान के लोग घुस आए। पहले उन्होंने घर में जबर्दस्त तोड़फोड़ की। उनके साथ मारपीट करते रहे।

इसके बाद घर में मौजूद उनके दो भाई, देवर और एक पड़ोसी को पकड़कर क्रूर व्यवहार किया और बुरी तरह मारा पीटा। बाद में इन चारों लोगों का अपहरण कर लिया। महिला डाक्टर का कहना है कि न तो वह सरकारी अधिकारी हैं और न ही उनके यहां कोई सरकारी अधिकारी मौजूद था।

इसके बाद भी पूर्व सुरक्षा अधिकारियों की यहां मौजूदगी का आरोप लगाकर उनके पूरे घर को निशाना बनाया गया। एएनआइ के अनुसार कंधार के इंटेलीजेंस प्रमुख रहमतुल्लाह ने कहा है कि पूर्व सुरक्षा अधिकारियों के वहां ठहरने की सूचना पर छापा मारा गया था।

इधर काबुल में महिलाओं के प्रदर्शन में भाग लेने पर एक अधिकार कार्यकर्ता हबीबुल्लाह फरजाद पर तालिबान ने कोड़े बरसाए और उसे मार-मारकर लहूलुहान कर दिया।

अफगानिस्तान में तालिबान अब अधिकार कार्यकर्ताओं पर कहर बरपा रहा है। फरजाद ने बताया कि तालिबान ने मुझे कमरे में बंद कर कोड़े बरसाए और मरणासन्न समझकर पटक गए। इसके पहले एक महिला अधिकार कार्यकर्ता और पत्रकार सायरा सलीम के साथ भी तालिबान ने बुरी तरह मारपीट की थी। 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close