7 साल के मासूम को आंगन से उठा ले गया आदमखोर तेंदुआ गांव में था अंधेरा तभी हुआ हादसा

 टिहरी : उत्तराखंड के टिहरी जिले के भिलंगना ब्लॉक में एक आदमखोर तेंदुए ने सात साल के बच्चे को अपना निवाला बना लिया शनिवार रात घनसाली क्षेत्र की हिंदव पट्टी के आखोड़ी गांव में हुई घटना से दहशत का माहौल है। वहीं, मृतक बच्चे के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

इन दिनों जंगलों में वनाग्नि से हाहाकार मचा हुआ है, जिससे जंगली जानवर भी अब रिहायशी इलाकों में प्रवेश करने लगे हैं घनसाली के सामाजिक कार्यकर्ता विक्रम सिंह घणाता ने आरोप लगाया कि बीते दो-तीन दिन से हिंदव पट्टी में बिजली आपूर्ति ठप है और कई बार शिकायत करने के बावजूद विद्युत विभाग लापरवाह बना हुआ है।

उन्होंने कहा कि विद्युत आपूर्ति बाधित होने के कारण ही शनिवार रात करीब आठ बजे बच्चे नवीन रावत को उसके घर के आंगन से तेंदुआ उठा ले गया। अचानक गायब हुए बच्चे को ढूंढने निकले परिजनों को बाद में उसका अधखाया शव झाड़ियों में बरामद हुआ।

सूचना पर देर रात साढ़े ग्यारह बजे घनसाली के उप-जिलाधिकारी केएन गोस्वामी और भिलंगना के वन रेंजर आशीष नौटियाल अपनी पूरी टीम के साथ मौके पर पहुंचे तथा घटना का जायजा लिया। मौके पर ग्रामीण आदमखोर तेंदुए को मारने के लिए शिकारी की तैनाती न किए जाने तक बच्चे का शव पोस्टमार्टम के लिए न ले जाने देने पर अड़ गए।

नौटियाल ने कहा कि तेंदुए के हमले में मारे गए बच्चे के परिजनों को मुआवजा दिया जाएगा और तेंदुए को मारने के लिए तत्काल शिकारी तैनात किए जाएंगे। क्षेत्र के प्रभागीय वन अधिकारी वीके सिंह ने बताया कि घटना की सूचना उच्च अधिकारियों को दे दी गई है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close