कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष के पुत्र सहित 7 पर हुआ हत्या का मामला दर्ज, गोलीकांड में घायल की मौत के बाद मामले ने लिया नया मोड़

Datia News : दतिया। रंजिश के चलते गत शुक्रवार रात छोटा बाजार िस्थत गली में एक व्यक्ति के साथ मारपीट कर कुछ लोगों ने गोली मार दी थी। गोलीकांड में गंभीर रूप से घायल अधेड़ की उपचार के लिए ग्वालियर ले जाते समय रास्ते में ही मौत हो गई।

इस मामले में कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष नाहर सिंह यादव के पुत्र व पूर्व पार्षद सहित सात अन्य लोगों पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया है। इस मामले में नाहर सिंह यादव ने आरोप लगाया है कि राजनीतिक षडयंत्र के तहत उनके बेटे को इस मामले में फंसाया गया है। ताकि वह नगर पालिका का चुनाव न लड़ सके।

शुक्रवार रात करीब साढ़े 8 बजे शहजाद खान पुत्र नसीर खान (50) को कुछ लोगों ने विवाद के दौरान मारपीट के बाद गोली मार दी थी। घायल शहजाद को गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय ले जाया गया था। वहां से फिर बाद में उसकी हालत ज्यादा बिगड़ने पर ग्वालियर रेफर कर दिया गया।

ग्वालियर ले जाते समय शहजाद की रास्ते में ही मौत हो गई। इस मामले में कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष के पुत्र और पूर्व पार्षद हर्ष यादव, रविंद्र खटीक, अनिल घुमनानी, सुभानु यादव और ढोढो मुसलमान व दो अन्य पर हत्या का मामला कोतवाली पुलिस ने दर्ज कर लिया है। सभी आरोपित फरार हैं। जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।

मृतक शहजाद खां

कोतवाली थाना थाना प्रभारी रविंद्र शर्मा ने जानकारी में बताया कि आरोपित हर्ष यादव पूर्व कांग्रेस जिला अध्यक्ष नाहर सिंह का पुत्र है। अब यह मामला विवाद का है या रंजिश का, यह तो आरोपितों के गिरफ्तार होने और मामले की जांच के बाद पर ही स्पष्ट हो पाएगा। आरोपितों की तलाश में पुलिस टीम बनाकर रवाना की गई है।

यह बताया जा रहा मामला

शहर के वार्ड क्रमांक 8 से विगत चुनाव में कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष नाहर सिंह यादव का बेटा हर्ष यादव चुनाव जीत गया था। जबकि इस वार्ड में एक भाजपा नेता वर्चस्व है। इसके बाद से यहां राजनीतिक रंजिश चली आ रही थी। मृतक शहजाद खान भाजपा नेता का समर्थक बताया जाता था।

कुछ माह पूर्व भी कांग्रेस जिलाध्यक्ष नाहर सिंह यादव का राशन की दुकान पर लोगों को राशन नहीं दिए जाने को लेकर डीलर से विवाद हुआ था। कुछ लोगों ने उनके साथ झूमाझटकी भी की थी।

मेरे पुत्र को फंसाया गया है- यादव

पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष नाहर सिंह यादव का इस मामले में कहना है कि मुझसे व मेरे परिवार से यह राजनीतिक दुश्मनी निकाली जा रही है। उनका पुत्र घटना के दौरान झांसी में था। जिसके फोटोग्राफ और सबूत भी हमारे पास हैं। हमें इस मामले में भाजपा नेता के कहने पर फंसाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि आगामी दिनों में फिर से नगर पालिका परिषद के चुनाव होने जा रहे है। मेरे पुत्र को चुनाव लड़ने से रोकने के लिए यह साजिश भाजपा नेताओं ने रची है और उसका नाम इस हत्या के मामले जोड़ा जा रहा है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close