गिरफ्तारी के बाद प्रियंका गांधी बोलीं- गैर कानूनी ढंग से कैद किया गया, वकील से भी मिलने नहीं दिया जा रहा

लखनऊ : लखीमपुर खीरी कांड के बाद से पीड़ित परिवारों से मिलने की जिद पर अड़ी प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपनी हिरासत को लेकर गंभीर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने बयान जारी कर आरोप लगाया है कि उन्हें गैर कानूनी तरीके से बलपूवर्क हिरासत में लिया गया।

बिना किसी कानूनी आधार के उनके सांविधानिक अधिकारों का हनन करते हुए उन्हें सीतापुर पीएसी परिसर में कैद रखा गया है। बता दें कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका सोमवार सुबह से सीतापुर मंें द्वितीय वाहिनी पीएसी के गेस्ट हाउस में हैं। वह लखीमपुर खीरी जाने पर अड़ी हैं, लेकिन वहां धारा 144 लागू होने की वजह से यह अनुमति नहीं मिल पा रही है।

प्रियंका की गिरफ्तारी और हिरासत को लेकर भी अफसर बार-बार बयान बदल रहे हैं। सोमवार को एसडीएम सदर (सीतापुर) पीएल मौर्य ने कहा था कि प्रियंका को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, मंगलवार को उन्होंने कहा कि वह गिरफ्तार नहीं हैं। उन्हें सिर्फ लखीमपुर खीरी जाने से रोका गया है। सीतापुर के डीएम विशाल भारद्वाज ने भी वीडियो संदेश जारी कर सफाई पेश की है। उन्होंने बताया कि लखीमपुर खीरी में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के प्रवेश पर रोक है।

इसी के मद्देनजर उन्हें सीतापुर में रोका गया है। मंगलवार देर शाम प्रियंका ने अपना लिखित वक्तव्य जारी किया, जिसमें विस्तार से घटनाक्रम बताया है। कहा है कि पीएसी परिसर लाए जाने के 38 घंटे बाद मंगलवार शाम 6.30 बजे तक पुलिस, प्रशासन या सरकार ने यह नहीं बताया कि उन्हें किन कारणों से और किन धाराओं में हिरासत में लिया गया है।

11 पाबंद लोगों में प्रशासन ने प्रियंका के साथ उन दो लोगों को भी नामजद कर दिया, जो लखनऊ से सिर्फ कपड़े देने आए थे। प्रियंका ने कहा कि सुबह से उनके वकील गेट पर खड़े हैं, लेकिन कानूनी सलाह लेने के लिए वकीलों से मिलने के अधिकार से वंचित रखा गया। प्रियंका का कहना है कि मुझे सीओ सिटी पीयूष कुमार सिंह ने धारा 151 के तहत गिरफ्तार होने की मौखिक जानकारी दी थी।

मोदी के नाम जारी किया वीडियो संदेश, पूछा-‘मंत्री अभी तक बर्खास्त क्यों नहीं?’ सीतापुर स्थित पीएसी के गेस्टहाउस में रहते हुए प्रियंका ने मंगलवार को दो वीडियो संदेश भी जारी किया जिसमें वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को संबोधित कर रही हैं। लखीमपुर खीरी कांड को लेकर वायरल हुए एक वीडियो को दिखाते हुए वह कह रही हैं-‘इस वीडियो में सरकार के एक मंत्री का बेटा किसानों को अपनी गाड़ी से कुचलते हुए दिखता है।

मंत्री को अब तक बर्खास्त क्यों नहीं किया गया? इस लड़के (मंत्री के बेटे) को अब तक गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया? मोदी को संबोधित करते हुए वह कह रही हैं कि आप याद करिए कि हमको आजादी देश के किसानों ने दिलाई है। किसान महीनों से त्रस्त है, अपनी आवाज उठा रहा है और आप उसे नकार रहे हैं।

आप लखीमपुर खीरी आइए। किसानों की पीड़ा सुनिए। इससे पहले सुबह आठ बजे भी प्रियंका ने ट्वीट कर एक वीडियो जारी कहा था कि बगैर किसी आर्डर और एफआइआर के मुझे हिरासत में रखा गया है। उन्होंने मृत स्थानीय पत्रकार रमन के स्वजन से भी फोन पर बात की और उन्हें ढाढस बंधाया। गेस्टहाउस के बाहर दिन भर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का जमावड़ा रहा।

 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close