मध्य प्रदेश विधानसभा बजट सत्र : सर्वदलीय बैठक संपन्न, नरोत्तम मिश्रा बोले- सत्र सुचारु चलाने पर बनी सहमति

भोपाल : मध्य प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र सोमवार को राज्यपाल मंगू भाई पटेल के पारंपरिक संबोधन के साथ शुरू होगा और 25 मार्च तक इसकी 13 बैठकें होंगी। विधानसभा के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य का 2022-23 का बजट बुधवार को पेश किया जाएगा। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने रविवार को सर्वदलीय बैठक की जिसमें विपक्ष के नेता कमलनाथ, गृह और संसदीय कार्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा और अन्य ने भाग लिया।

मिश्रा ने संवाददाताओं से कहा कि बजट सत्र को बिना किसी व्यवधान के सुचारु रुप से संचालित करने के लिए सर्वदलीय बैठक के दौरान सहमति बनी। विपक्ष के नेता कमलनाथ ने पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस चाहती है कि सभी महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हो और राज्य सरकार को विपक्ष के सवालों का जवाब देना चाहिए।

कमलनाथ ने कहा कि गायों की मौत की संख्या में वृद्धि, गौशालाओं बदहाली, खाद की किल्लत, बीज और किसानों को मुआवजा न मिलने के साथ ही बेरोजगारी पर भी सत्र में चर्चा होगी। लेकिन विधानसभा उपाध्यक्ष कौन होगा। इस सवाल पर मिश्रा ने कहा कि यह पद भाजपा के पास होगा, क्योंकि कांग्रेस ने दिसंबर 2018 में अपने 15 महीने के शासन के दौरान विपक्ष को यह पद देने की परंपरा को तोड़ दिया था। तब कांग्रेस ने अपने विधायक हिना कावरे को उपाध्यक्ष बनाया था।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सर्वदलीय बैठक के बाद मीडिया से चर्चा की। उन्होंने बताया कि आज सर्वदलीय बैठक में हमने कहा कि जो विधानसभा का लक्ष्य है, वह पूरा हो, शांति से विधानसभा का सत्र चले, सभी महत्वपूर्ण विषयो व मुद्दों पर गंभीरता से चर्चा हो, विपक्ष की बातों को गंभीरता से सुना जाए, सरकार हमारे सवालों का जवाब दे।

बहुत सारे मुद्दे हैं जिन पर हम इस सत्र में चर्चा करेंगे। जैसे गौमाता की निरंतर हो रही मौतों का मामला हो, गौशालाओं की वर्तमान हालात का मुद्दा हो, पेंशनर्स का मुद्दा हो, किसानों का मुद्दा हो, खाद-बीज, मुआवज़े, फसल बीमा की बात हो, बेरोज़गारी का मुद्दा हो, कई ऐसे जनहितैषी मुद्दे हैं, जिन्हें हम सदन में ज़ोर-शोर से उठाएंगे। विधानसभा उपाध्यक्ष को लेकर हम हमारी विधायक दल की बैठक में चर्चा करेंगे।

 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close