मध्यप्रदेश बजट-2022-23 : 13 हजार टीचर्स और 6 हजार आरक्षकों की भर्ती होगी,जानें और क्‍या हुए ऐलान !

भोपाल :  मध्‍य प्रदेश का बजट आज यानी कि बुधवार 9 मार्च को पेश किया गया। विपक्ष के जोरदार हंगामे के बीच में बजट भाषण की शुरुआत हुई। वित्तमंत्री जगदीश देवड़ा ने दूसरी बार बजट भाषण पेश किया है। मध्‍य प्रदेश का कुल बजट 2 लाख 79 हजार 237 करोड़ रुपये का है। इसमें सरकारी कर्मचारियों, बेरोजगार युवाओं और गरीब परिवार, किसानों और विशेष जनजाति का ध्‍यान रखा गया है।

वित्‍त मंत्री ने सरकारी कर्मचारियों के लिए बढ़ा ऐलान करते हुए कहा कि राज्‍य के सभी कर्मचारियों, जो महंगाई भत्‍ता पाते हैं, उनके महंगाई भत्‍ता (DA) को 20 फीसद से बढ़ाकर 31 फीसद कर दिया गया है यानी कुल बढ़ोतरी 11 फीसद की कर दी गई है। वहीं MBBS और नर्सिंग के छात्रों के लिए भी राहत दी गई है, इनके सीटों में भी बढ़ोतरी की जाएगी।

13000 टीचर्स की भर्ती
बजट भाषण के दौरान वित्‍त मंत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि 11 नए औद्योगिक क्षेत्र विकसित किए जाएंगे। जिसमें हजारों लोगों को रोजगार दिया जा सकेगा। इसके साथ ही 13000 शिक्षकों की भर्ती भी की जाएगी।

किसे क्या मिला बजट में…

  • सरकारी कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 20% से बढ़ाकर 31% किया गया। साढ़े सात लाख कर्मचारियों को इसका फायदा होगा।
  • 13000 टीचर्स की नियुक्ति की जाएगी। 11 नए औद्योगिक क्षेत्र विकसित किए जाएंगे।
  • गृह विभाग में 6 हजार आरक्षकों की भर्ती होगी।
  • MBBS की सीटें 2035 से बढ़ाकर 3250 की जाएंगी। यानी कुल 1215 सीटें बढ़ेंगी। नर्सिंग में 50 सीटें बढ़ाकर 320 की जाएंगी।
  • इस वर्ष कोई भी नया टैक्स नहीं लगाया जाएगा। न ही कोई टैक्स बढ़ाने का प्रस्ताव है।
  • चाइल्ड बजट के लिए 27 हजार 792 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
  • भोपाल, इंदौर, जबलपुर में PPP (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप) मॉडल पर 217 इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन बनेंगे।
  • भोपाल के बगरोद और बैरसिया में उद्योग पार्क बनेंगे। स्पोर्ट्स साइंस सेंटर की स्थापना की जाएगी।
  • जनजाति विकास निगम बनेगा। गायों की सेवा के लिए नई योजना शुरू की जाएगी।
  • बुरहानपुर जिले के हर घर को नल-जल की सुविधा मिल रही है। यह पहला जिला बन गया है।
  • अजा वित्त विकास निगम के लिए 40 करोड़ का प्रावधान किया गया है। पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम के लिए 50 करोड़ का प्रावधान है।

वित्तीय प्रबंधन का उत्तम उदाहरण है वर्ष 2022-23 का बजट – मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वर्ष 2022-23 का बजट सर्वे भवन्तु सुखिन: सर्वे संतु निरामय:, सब सुखी हों, सब निरोग हों, सबका मंगल हो, सबका कल्याण हो, के भाव से बनाया गया है। यह वित्तीय प्रबंधन का उत्तम उदाहरण है।

विपरीत परिस्थितियों में सामंजस्य बनाते हुए बेहतर वित्तीय प्रबंधन से ऐसा बजट प्रस्तुत करने के लिए वित्त मंत्रीजगदीश देवड़ा बधाई के पात्र हैं, यह बजट स्वागत योग्य है। मुख्यमंत्री चौहान ने विधानसभा में बजट प्रस्तुत होने के बाद बजट पर अपना अभिमत व्यक्त करते हुए विधानसभा में मीडिया प्रतिनिधियों से यह बात कही।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की विकास दर करंट रेट पर प्राप्त आंकड़ों के आधार पर देश में सर्वाधिक है। प्रदेश 19.7 प्रतिशत से अधिक की विकास दर अर्जित करने में सफल रहा है। यह प्रदेश के लिए बड़ी उपलब्धि है। आज प्रस्तुत बजट आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण का बजट है। यह प्रधानमंत्री मोदी के वैभवशाली, गौरवशाली, सम्पन्न और समृद्ध भारत के निर्माण के स्वप्न और संकल्प को पूर्ण करने का बजट है।

 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close