एयरफोर्स चीफ ने बताया भविष्य में कैसी होगी जंग, साइबर अटैक और हाइपरसोनिक मिसाइलों का होगा इस्तेमाल
air marshal vr chaudhari biography in hindi ,एयर मार्शल वीआर चौधरी जीवनी,वीआर चौधरी जीवनी, एयर मार्शल वीआर चौधरी जीवन परिचय, वीआर चौधरी जीवन परिचय, vr chaudhari biography in hindi,एयर मार्शल वीआर चौधरी की जीवनी हिंदी में,iaf air chief marshal biography in hindi,,Vivek Ram Chaudhari biography,Vivek Ram Chaudhari Wikipedia in hindi,विवेक राम चौधरी विकिपीडिया हिंदी मेंVivek Ram Chaudhari Wiki,एयर मार्शल वीआर चौधरी तस्वीरें

नई दिल्ली :  वायुसेना प्रमुख विवेक राम चौधरी ने मंगलवार को कहा कि भविष्य के युद्ध की प्रकृति हाइब्रिड होने की संभावना है जिसमें आर्थिक प्रतिबंध, सूचना अवरोध, कंप्यूटर वायरस और हाइपरसोनिक मिसाइल जैसी चीजों का इस्तेमाल किया जाएगा। अखिल भारतीय प्रबंधन संघ (एआईएमए) की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में अपने भाषण में एयर चीफ मार्शल ने कहा, “साइबर और सूचना” युद्धक्षेत्र को आकार देने के आधुनिक उपकरण बन गए हैं।

उन्होंने कहा कि सूचना के क्षेत्र में अच्छी तरह से गढ़ा गया विमर्श शत्रु को प्रभावित करेगा और इसके विनाशकारी प्रभाव हो सकते हैं। चौधरी ने कहा कि लोग एक-दूसरे से आपस में बहुत ज्यादा जुड़ गए हैं, ऐसे में “हमारे नेटवर्क पर साइबर हमला कमान और नियंत्रण संरचनाओं को पंगु बना सकता है।”

उन्होंने कहा कि अगली जंग में दुश्मन शायद एक देश या संगठन न हो। वायुसेना प्रमुख ने कहा कि भारत को शायद यह कभी पता न चल पाए कि उसके कंप्यूटरों पर हमला करने वाले कौन लोग हैं और यह हमला कब तथा कहां से होगा।

चौधरी ने कहा कि भविष्य में भारत पर सभी मोर्चों पर हमला किया जा सकता है, जिसमें आर्थिक प्रतिबंध से लेकर राजनयिक तौर पर अलग-थलग किए जाने और सैन्य गतिरोध से लेकर कंप्यूटरों पर हमला कर सूचना को अवरुद्ध करना तक शामिल है।

उनके मुताबिक, यह सबकुछ पहली गोली चलने और पहले विमान के सीमा पार करने से पूर्व ही हो जाएगा। उन्होंने यह भी कहा, “हम जिन हथियारों को देख रहे हैं वे एक छोटे कंप्यूटर वायरस से लेकर हाइपरसोनिक मिसाइल तक होंगे।”

Written & Source By : P.T.I

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close