केंद्रीय विद्यालयों मैं जल्द खत्म हो सकता है सांसद कोटा : सभी सांसदों से राय लेने के बाद इस मुद्दे पर फैसला किया जाएगा
kvs admission 2022-23 online portal,kvs admission 2022-23 Form,kvs admission 2022-23 document ,kvs admission 2022-23 notification ,kvs admission schedule 2022-23,kvs admission guidelines 2022--23,Kendriya Vidyalaya Online Admission Form 2022,kvs admission 2022-23 online portal,kvs admission 2022-23 Date, kvs admission 2022-23 Notification, kvs admission 2022-23 Apply Online,kvs admission 2022-23 Documents required

नई दिल्ली :  सरकार ने बुधवार को संसद में कहा कि केंद्रीय विद्यालयों में कोटा व्यवस्था के बारे में कोई फैसला सभी सांसदों के साथ विमर्श के बाद किया जाएगा। शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान विभिन्न पूरक सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार केंद्रीय विद्यालयों में कोटा व्यवस्था को लेकर सांसदों द्वारा जतायी गई चिंताओं पर गंभीरता से विचार कर रही है।

उन्होंने कहा कि चाहे कोटा खत्म करना हो या उसे बढ़ाना हो, सरकार गंभीरता से विचार कर रही है कि कोटा व्यवस्था के बारे में क्या फैसला किया जाए। उन्होंने कहा कि संबंधित विभाग सभी सदस्यों के साथ चर्चा के बाद निर्णय लेगा।

उन्होंने कहा कि इस संबंध में सांसदों और संसद का जो भी फैसला होगा, सरकार उस पर गंभीरता से विचार करेगी। मंत्री ने कहा कि इस संबंध में लोकसभा अध्यक्ष ने व्यवस्था दी है और विभाग सभी दलों के नेताओं से बात कर कोई फैसला करेगा।

प्रश्नकाल के दौरान, कई सदस्यों ने केंद्रीय विद्यालय में कोटा को लेकर चिंता जताई वहीं कुछ सदस्यों ने देश भर में ऐसे विद्यालयों की संख्या बढ़ाए जाने की भी मांग की। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय विद्यालयों में दाखिला के संबंध में प्रत्येक सांसद को 10 सीटों का कोटा मिलता है।

1963 में हुई थी स्थापना 

आज आपको देश के लगभग हर शहर में एक केंद्रीय विद्यालय देखने को मिल जाता है। कई एकड़ के कैंपस में फैला यह विद्यालय आम लोगों और छात्रों को हमेशा लुभाता है। शायद ही कोई ऐसे नौकरीपेशा अभिभावक होंगे, जो अपने बच्चे को केंद्रीय विद्यालय में न भेजना चाहते हो। पहली बार केंद्रीय विद्यालय की स्थापना 1963 में की गई थी। वर्तमान में देश में करीब 1200 से अधिक केंद्रीय विद्यालय हैं।
इनका संचालन केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के अधीन केंद्रीय विद्यालय संगठन द्वारा किया जाता है। इनकी स्थापना केंद्र सरकार के विभागीय अधिकारियों, सेना और अर्धसैनिक बलों के जवानों के बच्चों को बेहतर शिक्षण सुविधा देने के लिए की गई थी। इसके पीछे का मकसद था कि अधिकारियों के ट्रांसफर का असर उनके बच्चों की पढ़ाई पर न पड़े। 

कब-कब बढ़ी सांसद कोटे की सीटें

बदलाव वर्ष सीटों की संख्या
2011 से पहले  02
2011 के बाद 05
2012 में 06
2016 में 10

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close