अभि-अक्षु के बीच आया बड़ा ट्विस्ट, अनीशा को घर ले आई अक्षरा

मुंबई : आज के एप्सोड की शुरुआत अभि के सॉरी कहने से होती है. वो कहता है, “मैं ओटी में था जब तुमने फोन किया था, तुम परेशान क्यों हो।” अक्षु कहती है कि तुमने मुझसे एक बड़ी बात छिपाई है। अभि ये सुनकर टेंशन में आ जाता है। वह हंसने लगती है और उससे उसका चेहरा देखने को कहती है, अक्षु कहती है कि उसने उसे बेवकूफ बनाया।

अभि कहता है, “मुझे दिल का दौरा पड़ जाता, मैं तुम्हें कभी चोट नहीं पहुंचा सकता।” वह कहती हैं कि हम एक-दूसरे से प्यार करते हैं लेकिन बात कम करते हैं, बात ज्यादा करनी चाहिए और एक-दूसरे को जानना चाहिए। वह कहता है कि मैं भी यही कामना करता हूं, मैं तुमसे मिलने के लिए मर रहा हूं। वह पूछती है कि क्या तुम्हारे दिल में कुछ है।

उसे अनीशा का फोन आता है और कहता है कि मैं आपको बाद में फोन करूंगा। उसने अनीशा को फोन किया। वह पूछता है कि क्या बात है। अनीशा उसे जल्दी आने के लिए कहती है। वह छोड़ देता है। अक्षु कहता है कि वह किसी की वजह से चिंतित है, मुझे आशा है कि सब कुछ ठीक है।

अभि कहता है कि मैं वह नहीं कर सकता जो तुम चाहते हो। अनीशा कहती है कि मैं दो साल बाद वापस आई, मुझे भूख लग रही है, हम कहीं बाहर जा सकते हैं। वह उसे बाइक पर ले जाता है। आरोही उन्हें देखती है और उनका पीछा करती है।

वह कहती हैं कि वे कहां गए। अभि आरोही को देखता है और उससे छिप जाता है। वह चल देती है। अभि कहता है कि पता नहीं अगर उसने देख लिया हो तो। अनीशा पूछती है कि क्या हुआ। अभि कहता है कुछ नहीं कहता।

मनीष मीटिंग के लिए निकलता है। वह अक्षु को कार चलाते हुए देखता है। अक्षु का कहना है कि ड्राइवर की तबीयत ठीक नहीं है। वह उसे लिफ्ट देती है।

कभी-कभी अभि लिफ्ट देने आता है। अक्षु ‘मेरे पापा का गुस्सा’ गाना बजाती है औक साथ में वो गाती है। दादी और सुवर्णा ये सब देखती हैं और मुस्कुराती हैं। मनीष कार में बैठा है। अक्षु दादी को देखती है। दादी उसे बाय करती हैं। अक्षु मनीष को ले जाती है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Moshin Shivangi (@kaira_shivin.18)

मनीष ने डॉ. बदानी से बात की। उनका कहना है कि वो जल्दी ठीक हो जाएंगे। डॉ बदानी कहते हैं कि तुम मुझसे यहां मिलने नहीं आए।

मनीष कहते हैं कि आप जानते हैं कि क्या हुआ, मैं वहां नहीं आ सकता, आप ध्यान रखना। हर्ष यह सुनता है और उस आदमी से दोस्ती करने की सोचता है। कोई हर्ष को पहले आने के लिए कहता है, अभि की वजह से कुछ दिक्कत है।

अनीशा लड़खड़ाती है। अक्षु ने उसे पकड़ लिया। वह कहती है कि हम कैंप में टकरा गए थे। अनीशा अभि से अक्षु के बारे में पूछना चाहती है। वह कहती हैं कि कौन पर्स में तस्वीरें रखता है, इतना पुराना फैशन। अभि उसे अक्षु से दूर रहने के लिए कहता है

अक्षु कहती है कि हम डॉक्टर के पास जा सकते हैं या मेरे घर। अनीशा कहती है नहीं, मैं ठीक हूं, क्या हम आपके घर जा सकते हैं, मैं अकेली रहती हूं, मैं इसे अकेले नहीं संभाल सकती। हर्ष आता है और उसे ताना मारता है। वह उसे अभि को बुलाने और अस्पताल आने के लिए कहता है। कैरव अभि और अनीशा की तस्वीर देखता है। वह चिंता करता है।

वह देखता है कि अक्षु अनीशा को घर ले आती है। अक्षु कहती है कि वह अनीशा है, उसे चोट लगी थी, इसलिए मैं उसे ले आई। अनीशा सुवर्णा से बात करती है। वह कहती है कि मैं यहां रिश्ते के लिए आई हूं, मैं एक लड़के से प्यार करती थी, उसने कहा कि उसका परिवार सहमत नहीं होगा। कैरव देखता है। वह अभि को बुलाता है।

Source Link 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close