सीएम शिवराज ने किया ‘कन्या विवाह योजना’ को दोबारा शुरू करने का ऐलान : 55 हजार का मिलेगा लाभ, जानें- क्यों है योजना खास

भोपाल : मध्य प्रदेश सरकार फिर से कन्या विवाह योजना शुरू करने जा रही है. प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संवाददाताओं से बातचीत में इस बात की जानकार दी. सीएम चौहान ने कहा कि 21 अप्रैल से हम फिर से मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना शुरू करने जा रहे हैं. 21 अप्रैल को पहला कार्यक्रम सीहोर जिले से शुरू होगा. मैं खुद उसमें जाऊंगा. उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत विवाहिता को 38,000 रुपए की सामग्री दी जाएगी. इसके अलावा 11,000 का चेक और 6 हजार रुपए अलग से अन्य व्यवस्थाओं पर खर्च करने के लिए दिए जाएंगे.

योजना क्रियान्वयन में हो पूर्ण पारदर्शिता : मुख्यमंत्री   चौहान ने कहा कि योजना के क्रियान्वयन में पूरी तरह पारदर्शिता रहे। जन- प्रतिनिधियों की सहभागिता के साथ कार्यक्रम सम्पन्न हों, समितियों में जन-प्रतिनिधि शामिल रहें। सीहोर जिले का कार्यक्रम ऐसा होना चाहिए जो अन्य जिलों के लिए आदर्श बने। योजना काफी प्रशंसनीय रही है। इस नाते कार्यक्रम भी यादगार होना चाहिए।

मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि जिन बेटियों के विवाह हो रहे हैं, उन्हें योजना में प्राप्त होने वाली सामग्री के साथ ही सामाजिक स्तर पर भी उपहार आदि देने की पहल सराहनीय है।

कलेक्टर सीहोर ने दिया प्रेजेंटेशन : कलेक्टर सीहोर ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में 21 अप्रैल को हो रहे कार्यक्रम के लिए की गई व्यवस्थाओं की जानकारी दी। प्रेजेंटेशन में बताया गया कि सामूहिक विवाह के लिए समितियाँ गठित की गई हैं। दूल्हे, दुल्हन सहित परिजन के बैठने की व्यवस्था, वरमाला, अतिथियों के सत्कार, बैंडबाजा और आतिशबाजी के प्रबंध किए गए हैं।

दंपतियों को दिए जाने वाले उपहार के संबंध में विचार-विमर्श के बाद सामग्री की व्यवस्था की गई है। योजना में प्रति हितग्राही बेटी को 55 हजार रूपए के प्रावधान में 38 हजार रूपए की सामग्री, 11 हजार रूपए का चेक और 6 हजार रूपए आयोजन व्यय शामिल है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close