566 करोड़ रुपये की विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन : सोरेन बोले – आने वाली पीढ़ी को मजबूत करना है लक्ष्य

 

पाकुड़ : मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि पिछली बार सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का मुख्य फोकस बुजुर्गों, दिव्यांगों, विधवा एवं एकल महिलाओं को पेंशन से जोड़ना था। वहीं इस बार “आपकी योजना-आपकी सरकार- आपके द्वार” कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य आने वाली पीढ़ी को मजबूत करना है। इसी के तहत सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना से 9 लाख बच्चियों को आच्छादित करने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ऐसी योजनाएं बना रही हैं जिससे राज्य के होनहार बच्चे उच्चतर शिक्षा एवं प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी नि:शुल्क कर सकें।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री सारथी, स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड, जैसी योजनाओं से भी उन्हें लाभान्वित कराने की योजना बनाई जा रही है। वैसे बच्चे जो बड़े कॉलेजों में दाखिला प्राप्त कर लेते हैं, उन्हें 15 लाख तक की सहायता राशि सरकार उपलब्ध कराएगी। मुख्यमंत्री आज कृषि उत्पादन बाजार समिति मैदान, पाकुड़ में आयोजित “आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार ” कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

श्रम विभाग के पोर्टल पर कराएं निबंधन
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी योजनाएं ग्रामीण व्यवस्था को सुदृढ़ और जन कल्याण हेतु बनाई जा रही हैं। मुख्यमंत्री ने सभी मजदूरों, किसानों को श्रम विभाग के पोर्टल पर नामांकन कराने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा पोर्टल पर नियोजित मजदूरों के स्वास्थ्य, पेंशन, उनके बच्चों की छात्रवृत्ति, घटना में मृत्यु पर मुआवजा आदि कई लाभ देने का काम किया जा रहा है।

आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में 8 लाख आवेदन आवास के लिए हुए थे प्राप्त मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण, बुढ़े-बुजुर्ग किसान जो पहले ब्लॉक का चक्कर लगाकर थक जाते थे, आज पदाधिकारी उनके गांव जाकर उन्हें सरकार की योजनाओं से लाभान्वित कराने का कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आपकी सरकार आपके द्वार में 8 लाख आवेदन आवास से संबंधित प्राप्त हुए थे। इस हेतु केंद्र सरकार से स्वीकृति के लिए आवेदन भेजा गया था, जिसकी अभी तक कोई स्वीकृति प्राप्त नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अगर राज्य का 13 सौ करोड़ रुपए का बकाया दे देती, तो आज राज्य में किसी को आवास के लिए सोचना नहीं पड़ता।

पाकुड़ की जनता को जूट उद्योग से जोड़ने की तैयारी : मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि मंत्री आलमगीर आलम ने मुझे पाकुड़ क्षेत्र में जूट उत्पादन को लेकर अपार संभावना की ओर ध्यान आकृष्ट किया है। इस ओर सरकार पहले से ही काम कर रही है और जूट उत्पादन के क्षेत्र में एक बड़ी परियोजना तैयार कर यहां की जनता को समर्पित करने का काम किया जाएगा, जिससे यहां के ग्रामीणों को आर्थिक रूप से संपन्न बनाया जा सके।

हुनर अभियान से ग्रामीण महिलाओं को बनाया जा रहा सशक्त : कर्यक्रम में विभिन्न विभाग के स्टॉल लगाए गए थे, जहाँ पदाधिकारियों द्वारा लोगों को जनकल्याकारी योजनओं से लाभान्वित कराया गया। इस अवसर पर पाकुड़ जिला प्रशासन द्वारा चलाये जाने वाले हुनर अभियान के बारे में भी जानकारी दी गयी।

इस अभियान के तहत गांव की 1000 महिलाओं को रोजगार से जोड़कर उन्हें स्वावलंबी बनाने का काम किया जाएगा, जिससे उन्हें सशक्त एवं सक्षम बनाया जा सके। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जिला प्रशासन की स्मारिका पाकुड़ “आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार ” का विमोचन भी किया। जिला प्रशासन द्वारा यहाँ के स्थानीय कलाकार विनय घोष द्वारा बनाई गई मुख्यमंत्री एवं उनकी पत्नी की पेंटिंग से मुख्यमंत्री को सम्मानित किया गया।

विभिन्न योजनाओं का हुआ शिलान्यास एवं उद्घाटन : कार्यक्रम में मख्यमंत्री ने कुल 545.074 करोड़ रुपए लागत की 27 योजनाओं का शिलान्यास किया। जिसमें खुशहाल बचपन कार्यक्रम के तहत 51 आंगनबाड़ी केंद्र, विभिन्न सड़कों पर उच्चस्तरीय पुल, ग्रामीण जलापूर्ति योजना, सहकारिता भवन एवं गोदाम, सड़कों का निर्माण एवं चेक डैम निर्माण जैसी महत्वपूर्ण योजनाएं शामिल हैं।

वहीं 21.003 करोड़ रुपए की 42 योजनाओं का उद्घाटन किया, जिसमें संस्कृति कला केंद्र भवन एवं अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति छात्रावास की मरम्मत, सरकारी आवास का निर्माण, पुल-पुलिया, छठ-घाट,तालाबों का सौंदर्यीकरण, पीसीसी पथ, खुला जिम, साइंस एंड टेक्नोलॉजी की लैबोरेट्री का निर्माण एवं ग्रामीण पथों का सुदृढ़ीकरण एवं निर्माण शामिल है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वार कुल 53,946 लाभुकों के बीच 158.355 करोड़ रुपए की परिसंपत्ति का वितरण किया गया।

इनकी रही उपस्थिति : कर्यक्रम में मंत्री संसदीय कार्य एवं ग्रामीण विकास विभाग आलमगीर आलम, मंत्री श्रम, रोजगार प्रशिक्षण एवं कौशल विकास विभाग सत्यानंद भोक्ता, सदस्य झारखंड विधानसभा-सह-कार्यकारी अध्यक्ष 20 सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति झारखंड स्टीफन मरांडी, सांसद विजय हांसदा, विधायक लिट्टीपाड़ा दिनेश विलियम मरांडी, जिला परिषद अध्यक्ष जूली हेम्ब्रम, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, उपायुक्त पाकुड़ वरुण रंजन, पुलिस अधीक्षक हृदीप पी. जनार्दनन समेत कई अधिकारी उपस्थित रहे।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close