पटेल की तुलना जिन्ना से करने पर सीएम याेगी ने सपा को आड़े हाथों लिया, कहा इस दल से सर्तक रहना चाहिए

औरैया (उप्र) : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गत दिवस सरदार पटेल की तुलना जिन्ना से करने वाले राजनीतिक दल को आडे़ हाथों लेते हुए लोगों को ऐसे दलों से सर्तक रहने की अपील की और कहाकि एक (पटेल) देश को जोड़ने वाला थे तो दूसरा (जिन्ना) देश को तोड़ने वाला था।

योगी ने कहाकि आज अगर माफिया के ऊपर बुलडोजर चल रहा है तो माफिया के शरणदाताओं पर भी एक दिन जरुर चलेगा ।

औरैया में राजकीय मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास एवं विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करते हुए मुख्यमंत्री ने शनिवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का नाम लिए बगैर कहाकि एक दल के नेता ने पिछले दिनों एक वक्तव्य जारी किया था और भारत की अखंडता के प्रतीक सरदार पटेल की तुलना देश को तोड़ने वाले जिन्ना से करने का प्रयास किया था, इस प्रकार के शर्मनाक और निंदनीय बयानों को पूरे प्रदेश को खारिज करना चाहिए।

गौरतलब है कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने रविवार को हरदोई में एक भाषण में कहा था कि सरदार बल्लभ भाई पटेल, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और (मोहम्मद अली) जिन्ना ने पढ़ाई की और बैरिस्टर बने तथा भारत की आजादी के लिए किसी भी संघर्ष से पीछे नहीं हटे।

अखिलेश के इस बयान पर जवाब देते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहाकि एक सरदार पटेल देश को जोड़ने वाले थे और भारत की एकता अखंडता के प्रतीक हैं, भारत की 563 से अधिक रियासतों को भारत गणराज्य का हिस्सा बनाने का श्रेय अगर किसी एक महापुरूष को जाता हैं तो वह लौहपुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल को जाता है। वहीं दूसरी तरफ जिन्ना भारत को तोड़ने वाले थे।

width="500"

उन्होंने कहाकि आज जिन्ना और सरदार पटेल की तुलना करने का प्रयास हो रहा है, हमें ऐसे तत्वों के मंसूबों को समझना होगा। सरदार पटेल देश को जोड़ने वाले थे और जिन्ना देश को तोड़ने वाले थे। दोनों समकक्ष नहीं हो सकते, सरदार पटेल राष्टनायक है लेकिन जिन्ना भारत की एकता को खंडित करने वाले हैं। जो लोग यह तुलना करने का प्रयास कर रहे हैं हमें उनसे सतर्क रहना होगा।

योगी ने कहाकि आज प्रदेश बदल रहा है प्रदेश की छवि बदली है पहले पेशेवर अपराधी और माफिया, गरीब का व्यापारी का, बेटियों और बहनो का जीना हराम कर देते थे और अगर माफिया के ऊपर बुलडोजर चल रहा है तो माफिया के शरणदाताओं पर भी जरूर चलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहाकि प्रदेश में पहले पर्व एवं त्योहार आते ही दंगे शुरू हो जाते थे, आस्था पर भी कुठराघात होता था, छोटे बड़े सभी व्यापारियों की कमाई भी लुट जाती थी । उन्होंने कहा कि यहीं नही आमजन की आस्था पर प्रहार तो होता ही था झूठे मुकदमे सामान्य नागिरकों पर लादकर उन्हें जेल में बंद कर दिया जाता था।

आदित्यनाथ ने कहा, ‘आपने पिछले साढे़ चार वर्ष में देखा होगा कि प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ और जिसने दंगा करने का प्रयास किया, उनको दो टूक बता दिया गया है । दंगा करना छोड़ दो, आस्था के साथ खिलवाड. करना छोड़ दो और अगर करोगे तो ब्याज सहित वसूली भी होगी । योगी ने कहा कि संवेदनशील सरकार बिना भेदभाव के काम करती है, विकास योजनाओं में किसी प्रकार का भेदभाव नहीं करती है और सबको समान रूप से लाभ दे रही है । लेकिन तुष्टीकरण किसी का नही करती है।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में चल रही विकास योजनाओं के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी और केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोलियम पदार्थो पर उत्पाद शुल्क हटाये जाने की प्रशंसा की।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close