निर्वाचन आयोग तकनीक के उपयोग, चुनावी नैतिकता पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन की मेजबानी करेगा

नई दिल्ली : भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) 23-24 जनवरी, 2023 को नई दिल्ली में ‘प्रौद्योगिकी का उपयोग और चुनाव निष्ठा’ विषय पर दूसरे अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है। दिसंबर, 2021 में वर्चुअल रूप में आयोजित ‘लोकतंत्र के लिए शिखर सम्मेलन’ के बाद ‘चुनाव निष्ठा’ की स्थापना की गयी थी, जिसके समूह का नेतृत्व ईसीआई कर रहा है। इस समूह का पहला अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन 31 अक्टूबर – 01 नवंबर, 2022 को नई दिल्ली में ‘चुनाव प्रबंधन निकायों की भूमिका, रूपरेखा और क्षमता’ विषय पर आयोजित किया गया था, जिसमें 11 देशों के चुनाव प्रबंधन निकायों (ईएमबी) के लगभग 50 प्रतिनिधियों ने भाग लिया था।

भारत के मुख्य चुनाव आयुक्तराजीव कुमार इस दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे। समापन सत्र की अध्यक्षता भारत के चुनाव आयुक्त  अनूप चंद्र पाण्डेय करेंगे। भारत के चुनाव आयुक्त  अरुण गोयल पहले तकनीकी सत्र की अध्यक्षता करेंगे। ईसीआई ने, ‘चुनाव निष्ठा’ पर समूह के नेतृत्व के रूप में, एक सहयोगी दृष्टिकोण अपनाया तथा ग्रीस, मॉरीशस और आईएफईएस को समूह के सह-नेतृत्व के लिए आमंत्रित किया। ईसीआई ने दुनिया भर में ईएमबी और चुनाव संचालन करने वाले सरकारी समकक्षों के अलावा अंतर्राष्ट्रीय चुनाव प्रणाली प्रतिष्ठान और अंतर्राष्ट्रीय आईडीईए को आमंत्रित किया है।

अंगोला, अर्जेंटीना, अर्मेनिया, ऑस्ट्रेलिया, चिली, क्रोएशिया, डोमिनिका, फिजी, जॉर्जिया, इंडोनेशिया, किरिबाती, मॉरीशस, नेपाल, पैराग्वे, पेरू, फिलीपींस और सूरीनाम सहित 17 देशों/ईएमबी से लगभग 43 प्रतिभागियों तथा आईएफईएस, अंतर्राष्ट्रीय आईडीईए जैसे अंतरराष्ट्रीय संगठनों के 06 प्रतिभागियों के शामिल होने की उम्मीद है। नई दिल्ली स्थित कई विदेशी मिशन के प्रतिनिधियों के भी सम्मेलन में भाग लेने की उम्मीद है।

पृष्ठभूमि : ‘लोकतंत्र के लिए शिखर सम्मेलन’, अमेरिकी राष्ट्रपति की एक पहल थी और दिसंबर 2021 में इसकी मेजबानी की गई थी। भारत के प्रधानमंत्री ने 9 दिसंबर, 2021 को राजनेताओं के पूर्ण सत्र को संबोधित किया था। इस शिखर सम्मेलन के बाद, विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन के साथ एक “कार्य वर्ष” प्रस्तावित किया गया था, जिसके तहत लोकतंत्र से संबंधित विषयों पर संवाद तथा अन्य कार्यक्रम आयोजित किये जाने हैं।

शिखर सम्मेलन ने कार्य वर्ष में भागीदारी को सुविधाजनक बनाने के लिए दो प्लेटफॉर्म – ‘मुख्य समूह’ और ‘लोकतंत्र समूह’ भी विकसित किए। लोकतंत्र के लिए दूसरा शिखर सम्मेलन 29-30 मार्च 2023 को आयोजित किया जाएगा और इसकी सह-मेजबानी कोस्टारिका, कोरिया गणराज्य, नीदरलैंड, जाम्बिया तथा अमेरिका की सरकारों द्वारा की जाएगी।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close