भांडेर के श्रीरामलीला मेला को दिया जाएगा सांस्कृतिक स्वरुप, विधायक प्रतिनिधि सिरोनिया ने किया उद्घाटन, मेले में होंगे रंगारंग आयोजन

Datia News : दतिया। आने वाले समय में भांडेर का श्रीरामलीला मेला नए स्वरूप में शासन के सहयोग से लगेगा। ताकि इसका स्वरुप और भव्य बनाया जा सके। इसके साथ ही मेला मंच का भव्य निर्माण और मेला मैदान की बाउंड्रीवाल का निर्माण भी जल्दी शुरू होगा। इसकी प्रक्रिया भी अंतिम चरण में है। यह घोषणा भांडेर विधायक प्रतिनिधि संतराम सिरोनिया ने मंगलवार को मेला श्रीरामलीला भांडेर के 117वें संस्करण के उद्धाटन के दौरान कही।

इस मौके पर मां सरस्वती तथा प्रतीकात्मक श्रीराम के मुकुट का पूजन कर विधायक प्रतिनिधि सिरोनिया ने मेले का विधिवत उद्घाटन किया। सिरोनिया ने कहाकि इस ऐतिहासिक मेले की आय पशु मेले से होती थी।

लेकिन पशु मेला अब नहीं लगने से आय प्रभावित हुई है। ऐसे में चूंकि पूर्व में भी मेरे द्वारा घोषणा की जा चुकी थी कि मेले को अब सांस्कृतिक रूप से स्थापित करना है। इस दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं।

उद्घाटन कार्यक्रम में अपने संबोधन में प्रशासक नपं एवं एसडीएम इकबाल मोहम्मद ने कहाकि यह ऐतिहासिक मेला है और आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम इस मेले का अच्छा आयोजन करेंगे।

इस अवसर पर सीएमओ नपं विजयबहादुर सिंह तथा हरिओम त्रिपाठी ने भी उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित किया। इस मौके पर रूपसिंह सेंगर, राजेंद्र सिंह यादव, जीतू दांगी, बेटू सेंगर, राकेश अठसेला, गिरजेश खरे, भोलाराम गोलानी आदि उपस्थित रहे।

मेले में होंगे रंगारंग आयोजन

मेले में 16 मार्च तक मेला रंगमंच पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे। जिनमें एक मार्च से नौ मार्च तक रामलीला, 10 मार्च को भजन संध्या-पूरन पागल बाबा वृन्दावन, 11 मार्च को बुंदेली लोकगीत एवं लोकनृत्य-जयसिंह राजा एंड कंपनी, 12 मार्च को कब्बाली मुकाबला, 13 मार्च को स्थानीय कवि सम्मेलन, 13 मार्च को ही दिन में दंगल जिला केशरी व परगना केशरी प्रतियोगिता, 14 मार्च को अखिल भारतीय कवि सम्मेलन, 15 मार्च को सुगम संगीत एवं ऑर्केस्ट्रा तथा 16 मार्च को मेला समापन एवं पुरुस्कार वितरण होगा। यह सभी आयोजन रात्रि 8 बजे से प्रारंभ होंगे।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close