दुनिया के राजनीतिक विश्लेषकों के लिए भाजपा की यात्रा कौतूहल का विषय – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को देश को सबसे ऊपर रखने वाली ‘एकमात्र पार्टी’ करार दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा की यात्रा देश और दुनिया के राजनीतिक विश्लेषकों के लिए कौतूहल और आश्चर्य का विषय है।

योगी ने भाजपा के 42वें स्थापना दिवस पर यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, “दुनिया के सबसे बड़े राजनीतिक दल भाजपा से हम सबका जुड़ाव हम सभी से न सिर्फ अपनी राष्ट्रीय निष्ठा, बल्कि समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति की परवाह करने का भी आह्वान करता है। भाजपा के 42वें स्थापना दिवस के अवसर पर मैं देशभर में पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूं।”

उन्होंने कहा, “भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र की सरकार हो या फिर विभिन्न राज्यों की सरकारें, वे न सिर्फ देश के हर नागरिक की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करती हैं, बल्कि उनके लिए राष्ट्रहित सर्वोपरि है। भाजपा इस भाव पर चलने वाला देश का एकमात्र राजनीतिक दल है।”

योगी ने कहा, “भाजपा की यात्रा देश और दुनिया के राजनीतिक विश्लेषकों के लिए कौतूहल और आश्चर्य का विषय है, लेकिन यह यात्रा बहुत कुछ कहती है। राष्ट्र के प्रति हम सबकी एक मजबूत निष्ठा, अपने मूल्यों-आदर्शों के प्रति हमारा समर्पण भाव और समाज के अंतिम पायदान पर बैठे उस व्यक्ति को सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाना हम सबके जीवन का एक ध्येय है, जिसके लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने अंत्योदय की बात की थी।”

उन्होंने कहा कि जब हम इस ध्येय को प्राप्त करने के लिए एकजुट होकर काम करते हैं तो यह प्रत्येक नागरिक को स्वत: स्फूर्त भाव के साथ इस दल के साथ जोड़ने में सफल होता है। योगी ने कहा कि भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के नेतृत्व में दुनिया के सबसे बड़े राजनीतिक दल के रूप में आम जनमानस में लोकतंत्र के प्रति आस्था का भाव पैदा कर रही है।

मुख्यमंत्री ने भाजपा की यात्रा में आए उतार-चढ़ाव का जिक्र करते हुए कहा, “वर्ष 1952 में देश में पहले आम चुनाव के समय भारतीय जनसंघ की स्थापना की गई थी। उसका मकसद भी सत्ता की राजनीति नहीं, बल्कि भारत के प्रति समर्पण का भाव पैदा करने वाले लोगों को एक राजनीतिक दल के रूप में आगे बढ़ाने का कार्य करना था।”

उन्होंने राम मंदिर आंदोलन का जिक्र करते हुए कहा, “आजादी के बाद के सबसे बड़े सांस्कृतिक आंदोलन यानी श्रीराम जन्मभूमि आंदोलन के प्रति भाजपा के कार्यकर्ताओं के समर्पण पर कोई संदेह नहीं कर सकता।”

योगी ने कहा, “जनता पार्टी के असफल प्रयोग के बाद 1980 में जब भाजपा का गठन हुआ था, तब अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी और भाजपा के उस समय के उन सभी महापुरुषों ने इस नए दल को देश की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करने वाले दल के रूप में स्थापित करने का संकल्प लिया था।”
उन्होंने कहा, “आज आप देख रहे होंगे कि भाजपा भारत के नागरिकों की श्रद्धा और आस्था का केंद्र बिंदु बन चुकी है। पार्टी की यह यात्रा दुनियाभर में आश्चर्य और कौतूहल का विषय है।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में जब 2014 में केंद्र में भाजपा की सरकार बनी थी, तब क्या किसी ने था कि यह इतना व्यापक जनसमर्थन हासिल करने में सफल होगी। उन्होंने सवाल किया कि तब क्या किसी ने सोचा था कि पांच दशक पहले पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने जो सपने देखे थे, उन्हें मोदी सरकार एक-एक करके पूरा करते हुए दिखाई देगी।

योगी ने कहा कि देश में इस सदी की सबसे बड़ी महामारी के दौरान मोदी सरकार ने 80 करोड़ लोगों को मुफ्त में राशन उपलब्ध कराने का काम किया। उन्होंने दावा किया कि देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 185 करोड़ खुराक लगाई जा चुकी हैं और भारत को छोड़कर कोई और सरकार अपने नागरिकों को मुफ्त में टीका नहीं लगा रही है।

मुख्यमंत्री ने केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा, “भाजपा सरकार ने बिना किसी भेदभाव के हर पात्र व्यक्ति को योजनाओं का लाभ दिया है। जब हम लोग पार्टी का 42वां स्थापना दिवस मना रहे हैं तो स्वाभाविक रूप से जिन जनआकांक्षाओं की पूर्ति की हमसे अपेक्षा है, उन पर खरा उतरने के लिए हमें रोज एक नई परीक्षा से गुजरने के लिए खुद को तैयार करना होगा।”

Written & Source By : P.T.I

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close