आठ हजार पांच सौ लाइसेंसी हथियार होंगे जमा, पंचायत चुनाव के आते ही निगरानी बढ़ी, दूसरे चरण में 28 जनवरी को होगा मतदान

Datia News : दतिया । त्रिस्तरीय पंचायती चुनाव की घोषणा के बाद जिला व पुलिस प्रशासन एक्शन मोड में आ गया है। जिले में पंचायती चुनाव दूसरे चरण में संपन्न होंगे।

इसे लेकर कलेक्टर संजय कुमार, पुलिस अधीक्षक अमनसिंह राठौड़ ने सोमवार को पत्रकारों के बीच जानकारी देते हुए बताया कि लाइसेंसी हथियार जिनकी संख्या लगभग साढे़ आठ हजार से अधिक है, उन्हें जमा करने की प्रकि्रया शुरू कर दी गई है।

जिले में शांतिपूर्वक मतदान के लिए जिला व पुलिस प्रशासन की तैयारियों और आदर्श आचार संहिता की जानकारी दी गई। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ कमलेश भार्गव भी उपस्थित रहे।

पुलिस ने शुरू की हथियार जमा करने प्रक्रिया

जिले में त्रिस्तरीय पंचायती चुनाव को लेकर शस्त्र लाइसेंस जारी किए गए हैं। लगभग 8500 हथियार को जमा करने की प्रक्रिया पुलिस ने सोमवार से शुरू कर दी है। इसके अलावा अवैध शराब की बिक्री को लेकर भी एक मुहिम शुरू की गई है।

कलेक्टर व एसपी ने जानकारी में बताया कि 28 जनवरी को होने वाली त्रिस्तरीय पंचायती चुनाव के मतदान में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं।

जिले में कुल 290 ग्राम पंचायतों व पंच वार्डों की संख्या 4694 है और कुल मतदाताओं की संख्या 4 लाख 65 हजार 794 है। जनपद के कुल 73 वार्ड एवं जिला पंचायत के 10 सदस्य के पदों पर चुनाव होना है।

द्वितीय चरण में जिले में 28 जनवरी 2022 को सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक मतदान होगा। 13 दिसंबर से नामांकन दाखिल का कार्य शुरू होगा।

तीन साल से जमे पंचायत सचिवों का होगा स्थानांतरण

पंचायत चुनाव को लेकर आयोग ने आदेश जारी किए हैं कि जो पंचायत सचिव किसी ग्राम पंचायत में 3 वर्ष से अधिक समय से कार्यरत हैं, उनका स्थानांतरण किया जाए।

इस संदर्भ में कलेक्टेर संजय कुमार ने जानकारी में बताया कि जिला प्रशासन अभी सूची तैयार कर रहा है और शीघ्र ही 3 साल से अधिक समय से पदस्थ पंचायत सचिवों काे अन्यत्र स्थानांतरित किया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने मतदात सहित फार्म भरने तथा नाम वापस लेने संबंधी जानकारियों के बारे में विस्तार से बताया।

पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौड ने जानकारी में बताया कि त्रिस्तरीयपंचायती चुनाव में संवेदनशील व अति संवेदनशील मतदान केंद्र का निर्धारण होते ही यदि अतिरिक्त पुलिस बल की आवश्यता होगी, तो उसकी मांग की जाएगी।

इन केंद्रों के तय होने के बाद ही पुलिस बल कितनी संख्या में लगेगा, इसका निर्धारण किया जाएगा। अतिरिक्त बल की आवश्यकता होने पर राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र भी लिखा जाएगा।

अभी इस प्रक्रिया में कुछ समय है। उसके बाद ही तय हो पाएगा कि कितना अतिरिक्त पुलिस बल दतिया जिले को चाहिए। इसके साथ शराब एवं पैसा बांटने की रोकथाम पर सख्ती के साथ चुनाव के दौरान शांतिपूर्वक मतदान संबंधी गतिविधियों पर पुलिस की कड़ी नजर रहेगी।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close