अश्विन बोले- आईपीएल में मिलता है प्रयोग करने का मौका, आंकड़े बनाना अंतिम लक्ष्य नहीं

मुंबई : भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में हाल में दूसरे नंबर पर काबिज होने वाले दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि वह कभी आंकड़ों के पीछे नहीं भागते तथा निजी उपलब्धियों को यात्रा का हिस्सा मानते हैं, अंतिम लक्ष्य नहीं।

अश्विन ने श्रीलंका के खिलाफ हालिया टेस्ट श्रृंखला में 15.08 की औसत से 12 विकेट लिये। इस बीच उन्होंने कपिल देव के 434 विकेट के आंकड़े को पीछे छोड़ा। उनके नाम पर अब 442 विकेट दर्ज हैं और विश्व में सर्वाधिक टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में आठवें स्थान पर पहुंच गये हैं।

अश्विन ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘आंकड़े देखने में अच्छे लगते हैं और देखकर अच्छा लगता है कि आंकड़ों के मामले में मैंने क्या हासिल किया है। मैं जितना अधिक खेला, उतना मुझे लगा कि आंकड़े अंतिम लक्ष्य नहीं बल्कि आपकी यात्रा का हिस्सा हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘पिछले दो तीन वर्षों में विशेषकर बहुत अच्छा लग रहा है। आस्ट्रेलिया में श्रृंखला जीत, टी20 टीम में वापसी, यह वैसा ही अहसास था जब मैंने पहली बार टीम में जगह बनायी थी।’’ यह 35 वर्षीय स्पिनर आगामी आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलेगा जो इस लीग में उनकी पांचवीं फ्रेंचाइजी है। उन्होंने कहा कि इस टी20 टूर्नामेंट ने शुरू से उन्हें बेहतर क्रिकेटर बनने में मदद की।

अश्विन ने कहा, ‘‘आईपीएल एक मुश्किल टूर्नामेंट है। प्रत्येक सत्र में कई कारक होते हैं जिनका प्रभाव पड़ सकता है। आप इन्हें ओस, पिच, विरोधी टीम कुछ भी नाम दे सकते हैं जो अलग अलग तरह से प्रभाव डालते हैं।

इससे इसके लिये तैयारी करना चुनौती होता है। आपको हर समय चुनौतियों के लिये तैयार रहना होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘व्यक्तिगत तौर पर हालांकि आईपीएल में खेलना मेरे लिये हमेशा रोमांचक रहा है। आईपीएल आपको प्रयोग करने का मौका देता है जिससे मुझे बेहतर क्रिकेटर बनने में मदद मिलती है।’’

WRitten & Source By : P.T.I

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close