त्योहारों से पहले महंगाई का एक और झटका : LPG गैस सिलेंडर के बढ़े दाम, खाना बनाने के लिए खर्च करने होंगे ज्यादा पैसे

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ती ईधन की कीमतों में तेजी का असर बुधवार को रसोई गैस के सिलेंडर पर भी देखने को मिला। 15 रुपये प्रति सिलेंडर की वृद्धि सब्सिडी और गैर सब्सिडी दोनों तरह की एलपीजी कीमतों में की गई है।

जुलाई से अब तक 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर की कीमत में 90 रुपये की वृद्धि की जा चुकी है। दिल्ली और मुंबई में अब रसोई गैस की कीमत 899.50 रुपये प्रति सिलेंडर हो गई है जबकि कोलकाता में यह 926 रुपये है।

सरकार ने समय-समय पर वृद्धि करके ज्यादातर शहरों में एलपीजी पर सब्सिडी को समाप्त कर दिया है। एक आम परिवार जो एक वर्ष में रियायती दरों पर 14.2 किलोग्राम के 12 सिलेंडर का हकदार है, वह भी अब बाजार मूल्य का भुगतान करता है।

इतना ही नहीं उज्ज्वला योजना लाभार्थी को भी किसी तरह की सब्सिडी नहीं मिल रही है। पांच किलोग्राम के एलपीजी सिलेंडर की कीमत अब 502 रुपये हो गई है। जुलाई के बाद से रसोई गैस की कीमतों में यह चौथी वृद्धि है। जुलाई में कीमतों में 25.50 रुपये प्रति सिलेंडर की बढ़ोतरी की गई थी।

इसके बाद 17 अगस्त और एक सितंबर को 25-25 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी। बता दें कि सऊदी अरब द्वारा बेची जाने वाली रसोई गैस की कीमत में काफी तेजी आई है। मई के 483 डालर प्रति टन से बढ़कर अक्टूबर में 797 डालर प्रति टन हो गई है। 

फिर बढ़े पेट्रोल और डीजल के दाम

बुधवार को तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल की कीमत में एक बार फिर इजाफा किया। पेट्रोल में 30 पैसे तो डीजल में 35 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की गई। इस तरह दोनों तरह के ईधन की कीमत सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंच गई हैं।

दिल्ली में पेट्रोल की कीमत अब 102.94 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 91.42 रुपये प्रति लीटर है। इसी तरह मुंबई में यह क्रमश: 108.96 और 99.17 है। स्थानीय करों के आधार पर कीमतें राज्यों में अलग-अलग होती हैं। तेल कंपनियों ने पिछले कुछ दिनों में घरेलू दरों और लागत के बीच तालमेल रखने करने के लिए मामूली वृद्धि का सहारा लिया है।

हालांकि ओपेक प्लस (तेल उत्पादक देशों) द्वारा उत्पादन में वृद्धि को प्रति दिन चार लाख बैरल पर सीमित करने से अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड की कीमत 82.92 डालर प्रति बैरल हो गई है, जिसकी वजह से ईंधन की कीमतों में बड़े अनुपात में वृद्धि की जा रही है। एक माह पहले कच्चे तेल की कीमत 72 डालर प्रति बैरल के स्तर पर थी। 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close