केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ‘फिट इंडिया फ्रीडम राइडर बाइक रैली’ को दिखाई हरी झंडी, 75 बाइक पर निकले 120 राइडर्स

नई दिल्ली : केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री  अमित शाह ने आज नई दिल्ली में ‘फिट इंडिया फ्रीडम राइडर बाइकर रैली’ को झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर गृह और युवा कार्यक्रम एवं खेल राज्यमंत्री  निसिथ प्रमाणिक तथा संस्कृति और विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

अपने संबोधन में अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है और  मोदी ने इस अमृत महोत्सव को न सिर्फ आजादी से जोड़ा है, बल्कि इसे बहुआयामी भी बनाया है। यह प्रधानमंत्री  नरेन्द्र की नई और बहुआयामी सोच को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री ने आजादी का अमृत महोत्सव मनाने का विचार राष्ट्र के सामने रखा, तो किसने सोचा था कि इसका इतना बड़ा प्रभाव पड़ेगा। लेकिन इसी साल 15 अगस्त को कश्मीर से कन्याकुमारी एवं द्वारका से कामाख्या तक समाज के हर वर्ग के लोग हर घर तिरंगा अभियान में शामिल हुए और देशभक्ति का जो जज्बा दिख रहा था, उसने दिखाया कि नरेन्द्र मोदी आजादी का अमृत महोत्सव को जन-जन तक पहुंचाने में सफल रहे हैं।

प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने आजादी का अमृत महोत्सव के लिए तीन लक्ष्य दिए हैं। पहला, नई पीढ़ी, युवाओं, किशोरों और बच्चों को लंबी व कठिन स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई से परिचित कराना। देश की आजादी के 90 साल के संघर्ष में लाखों शहीदों ने जाने-अनजाने 1857 से 1947 तक अपना सर्वोच्च बलिदान दिया। हमारी नई पीढ़ी को उनके बलिदान से परिचित कराने और देश के प्रति समर्पण की भावना पैदा करने के लिए, जो हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के मन में थी। इसका दूसरा लक्ष्य 75 वर्षों में हमारे देश द्वारा हासिल की गई उपलब्धियों के बारे में गर्व की भावना पैदा करना है।

तीसरा लक्ष्य है, 2047 में भारत के लिए लक्ष्य तय करने के बाद, जब हम अपनी स्वतंत्रता का शताब्दी वर्ष मनाएंगे, हमें 25 साल के इस ‘अमृत काल’ के माध्यम से भारत की यात्रा का मार्ग प्रशस्त करना होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा तय किया गया अमृत काल का यह काल हर भारतीय के मन में एक नया जोश और साहस पैदा कर रहा है कि जिस समय आजादी की शताब्दी मनाई जाएगी, भारत हर क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ होगा। इसी लक्ष्य के साथ 130 करोड़ देशवासी भारत को महान बनाने की यात्रा पर निकल पड़े हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0022PCD.jpg

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि देशभक्ति की लहर ‘हर घर तिरंगा अभियान’ के दौरान महसूस  की गई थी, जिसका अनुभव शायद ही किसी देश ने किया होगा। हर घर, वाहन, स्मारक पर तिरंगा फहराया गया और लोग तिरंगा फहराते हुए गर्व से अपनी तस्वीरें अपलोड कर रहे थे। यह लोगों के बीच प्यार और देशभक्ति को दर्शाता है।

आजादी का अमृत महोत्सव के तहत आज 10 महिलाओं सहित 120 व्यक्ति 75 मोटरसाइकिलों पर सवार होकर 75 दिनों की देश की यात्रा के लिए रवाना हो रहे हैं। ये मोटरसाइकिल सवार छह अंतरराष्ट्रीय सीमाओं सहित 34 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 250 से अधिक जिलों तक जाएंगे तथा 75 दिनों में 18,000 किमी की लंबी दूरी की यात्रा के क्रम में 75 महत्वपूर्ण स्थानों को आजादी का अमृत महोत्सव के तहत बढ़ावा देंगे और राष्ट्रीय राजधानी लौटेंगे।

यह प्रयास निश्चित रूप से राष्ट्रीय एकता को मजबूत करने और आजादी का अमृत महोत्सव के उद्देश्यों को लोगों तक पहुंचाने में सफल साबित होगा। यह यात्रा युवाओं को ‘फिट इंडिया’ का संदेश देने में भी सफल होगी। फ्रीडम मोटर राइडर्स देश में विविधता में एकता के संदेश को लेकर राज्य या शहरों में छोटी बाइक रैलियां निकालकर युवाओं से जुड़ेंगे।

हजारों युवाओं को इस कार्यक्रम से जोड़ने का सराहनीय प्रयास किया गया है। 24 नवंबर को जब वे दिल्ली लौटेंगे तो युवाओं में एक नई ऊर्जा जरूर पहुंचेगी। इन सभी मोटरसाइकिल सवारों का जीवन भी देश को जानने, 18,000 किलोमीटर की यात्रा करने और विभिन्न भाषाओं, खाद्य पदार्थों व परिधानों से परिचित होने के बाद बदल जाएगा।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003CPT9.jpg

अमित शाह ने कहा कि 18,000 किलोमीटर की यात्रा गुमनाम शहीदों की अमर गाथा को पुनर्जीवित करने के साथ-साथ युवाओं में देशभक्ति की भावना जगाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने उपनिवेशीकरण के एक प्रतीक को हटाकर ‘कर्तव्य पथ’ देश को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि यह यात्रा प्रत्येक नागरिक के मन में कर्तव्य के प्रति जागरूकता भी पैदा करेगी। शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने कल अपने भाषण में कहा था कि 130 करोड़ नागरिकों के अपने कर्तव्यों के प्रति समर्पण से ही नए भारत का निर्माण किया जा सकता है।

एक प्रकार से अधिकारों का जन्म कर्तव्यों से होता है और जब हम अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हैं, उसी समय हम दूसरों के अधिकारों को भी पूरा करते हैं। अधिकारों को पूरा करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि प्रत्येक व्यक्ति अपने कर्तव्यों का पालन करे और जब 130 करोड़ लोग देशभक्ति की भावना की अभिव्यक्ति के माध्यम से अपने संवैधानिक कर्तव्यों का पालन करते हैं, तो राष्ट्र को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image00457UU.jpg

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश को एक नई दिशा और ऊर्जा मिली है तथा देश ने पिछले आठ वर्षों में कई क्षेत्रों में जितनी प्रगति की है, उसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। उन्होंने कहा कि आठ साल पहले भारत 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था था और आज इसे पिछले आठ वर्षों में 11वें स्थान से 5वीं सबसे बड़ी वैश्विक अर्थव्यवस्था होने का गौरव प्राप्त है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा दिखाए गए मार्ग और देश की प्रगति के लिए उन्होंने जिस पथ को प्रशस्त करने का प्रयास किया है, उस पथ पर चलकर स्वतंत्रता के शताब्दी वर्ष में हम दुनिया में सर्वोच्च स्थान पहुंचेंगे।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close