गरीब परिवारों की बेटियों की शादी में भी लगेंगे चार चांद : अब अधिकारी पहुंचकर देंगे तोहफे, कलेक्टर ने शुरू की पहल

Datia News : दतिया। जिला प्रशासन के मुखिया कलेक्टर संजय कुमार सामाजिक सरोकार से जुड़े नवाचार लगातार करते रहते हैं। जिसके सार्थक परिणाम भी देखने को मिले हैं। ऐसा ही एक नवाचार करने के लिए कलेक्टर ने मंगलवार को टीएल की बैठक में जिले के अधिकारियों को प्रेरित किया है। यह नवाचार है शासकीय सेवकों का गरीब परिवारों की बेटियों के शादी समारोह में शामिल होने का।

इस नवाचार में प्रशासनिक अधिकारी, आर्थिक रूप से ऐसे गरीब परिवारों की बेटियों की शादी समारोह के आयोजन में बिना सूचना के शामिल होने पहुंचेंगे। साथ ही अपने सामर्थय के अनुरूप मदद भी करेंगे। जिससे उस परिवार काे खुशी मिलने के साथ उसकी हौसलां अफजाई होगी और समाज में अधिकारियों एवं कर्मचारियों के प्रति एक अच्छा संदेश भी जाएगा।

इस दौरान कलेक्टर ने कहाकि शादी विवाह के समारोह में सार्मथ्यवान लोग अपनी हैसियत के हिसाब से महंगे कार्ड और आयोजन करते हैं। जिनका बुलावा भी अधिकारियों को मिलता है। वहां पहुंचना सिर्फ एक रस्म अदायगी जैसा रहता है।

लेकिन अगर हम बिना बुलाए ही किसी गरीब परिवार की बेटी के शादी समारोह में पहुंचेंगे तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहेगा। ऐसे लोगों को प्रशासन से काफी अपेक्षा रहती है। जिसमें हम सभी मददगार बनें तो समाज में अच्छा संदेश जाएगा।

इस नवाचार को लेकर मौजूद प्रशासनिक अधिकारी भी उत्साहित नजर आएं। उन्होंने कलेक्टर के समक्ष इस नवाचार को अपनाने की बात भी कही।

दोषियों पर हुई कार्रवाई  होगी दर्ज : समय-सीमा के पत्रों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने यह निर्देश भी दिए कि शासकीय कार्यालयों में कर्मचारी एवं अधिकारियों के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई, निलंबन एवं विभागीय जांच का उल्लेख उनके सर्विस अभिलेख में आवश्यक रूप से करें। कलेक्टर ने कहाकि कार्यालयों में अनुशासनात्मक माहौल निर्मित हो इसके लिए लापरवाह एवं कार्य न करने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध विधिवत रूप से नोटिस देकर अनुशासनत्मक कार्रवाई व निलंबन की कार्रवाई करें।

विभागीय जांच संशित होने पर समय-सीमा में जांच कर की गई कार्रवाई से कलेक्ट्रेट की स्थापना शाखा को भी अवगत कराया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह अपने कार्यालयों में ऐसे कर्मचारी एवं अधिकारी जो अपने कर्तव्य के प्रति सचेत नहीं है, पूर्व में भी दंड़ित हो चुके है। ऐसे 20 वर्ष की सेवा कर चुके एवं 50 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले कर्मचारियों को चिंहित कर उनके नाम भेजना सुनिश्चित करें।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter