सीडीएस जनरल रावत समेत 13 सैन्यकर्मियों की अंतिम विदाई : हेलीकॉप्‍टर क्रैश के कारणों की तलाश में जुटी IAF

नई दिल्ली : तमिलनाडु के कुन्‍नूर में एक घने जंगल से गुजरने के दौरान हेलीकॉप्‍टर दुर्घटना में जान गंवाने वाले CDS जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्‍नी मधुलिका रावत का आम शाम 4 बजे अंतिम संस्‍कार होगा। 8 दिसंबर को हुए इस हादसे में जान गंवाने वालों में ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर भी शामिल रहे, जिनका अंतिम संस्‍कार शुक्रवार को बरार स्‍क्‍वायर श्‍मघाट में संपन्‍न हो गया। इस बीच जनरल रावत और उनकी पत्‍नी मधुलिका रावत का पार्थिव शरीर उनके आवास पर लाया गया है, जहां उन्‍हें श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा है। 

तमिलनाडु में हेलीकॉप्टर हादसे में मरे देश के पहले प्रधान रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजलि देने के लिए उनके पैतृक गांव सैंणा में बृहस्पतिवार को जिला प्रशासन, राजनीति से जुड़े लोग और आमजन एकत्रित हुए।


सैंणा के निकट बिरमोलीखाल बाजार में आयोजित शोक सभा में भाजपा विधायक ऋतु खंडूरी ने कहा कि जनरल रावत के रूप में भारत ने आज अपना एक रत्न खोया है और राज्य सरकार इस क्षेत्र के विकास के उनके सपने को पूरा करेगी। उन्होंने कहा कि यदि क्षेत्र की जनता यहां उनका बड़ा स्मारक बनाने का प्रस्ताव रखती है तो उस पर विचार किया जाएगा।


कांग्रेस के पूर्व विधायक शैलेंद्र रावत ने स्वयं को एक सैनिक परिवार से जुड़ा हुआ बताया और कहा कि वह दिवंगत सैन्य अधिकारी से दो— तीन बार मिले हैं उनके सरल स्वभाव और विशाल व्यक्तित्व का अनुभव किया है।


जनरल रावत को देश की शान बताते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश का हर युवा बिपिन रावत बनना चाहता है। उन्होंने दिवंगत शीर्ष सैन्य अधिकारी के चाचा भरत सिंह रावत के घर पहुंच कर उनके परिवार को सांत्वना भी दी।

पौड़ी के जिलाधिकारी डॉ विजय जोगदण्डे ने भी उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किए। उन्होंने कहा कि दिवंगत जनरल के गाँव जाने वाली सड़क का काम एक किलोमीटर शेष रहने की बात पता चलने पर उन्होंने तत्काल लोकनिर्माण विभाग को इसे पूरी करने का आदेश दिया है।

उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त ग्रामीणों ने ग्राम सभा की भूमि पर जनरल रावत का स्मारक बनाने की इच्छा जाहिर की है। जिलाधिकारी ने कहा कि जैसे ही उचित प्रस्ताव मिलेगा, जरूरी कार्रवाई शुरू की जाएगी।सैकड़ों की संख्या में आम जनों ने भी दिवंगत प्रधान रक्षा अध्यक्ष के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter