पंजाब : मान सरकार की तरफ से राज्य में पहली बार बनाई जा रही है कृषि नीति , आम लोगों से 31 मार्च तक माँगे सुझाव

चंडीगढ़ : कृषि प्रधान राज्य पंजाब के किसानों को पेश मुश्किलों के समाधान और कृषि को लाभदायक धंधा बनाने के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार की तरफ से पंजाब में पहली बार बनाई जा रही कृषि नीति के लिए आम लोगों से सुझाव माँगे गए हैं।

आज यहाँ जारी प्रैस बयान में कृषि मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने कहा कि किसानी को कर्ज़ मुक्त बनाने और समय की ज़रूरत अनुसार किसानी को नये मार्ग पर चलाने के लिए मुख्यमंत्री की तरफ़ से कृषि नीति बनाने का फ़ैसला किया गया है।

इसी सिलसिले में पंजाब के इतिहास में पहली बार मुख्यमंत्री की तरफ से सरकार-किसान मिलनी करवाई गई। उन्होंने कहा कि कृषि नीति में किसानों की फीडबैक को शामिल करने के लिए सरकार की तरफ से किसानों, ग्रुप समूहों, सेल्फ हेल्प ग्रुपों, एफ. पी. ओ., किसान एसोसिएशन, एग्रो इंडस्टरियल ऐसोसीएशनज़ के इलावा आम लोगों से 31 मार्च, 2023 तक सुझाव माँगे गए हैं।

कृषि मंत्री ने राज्य निवासियों से अपील की है कि वह बढ़-चढ़ कर अपने सुझाव दे जिससे उनको नीति का हिस्सा बनाया जा सके। सुझाव देने के लिए मोबाइल नंबर 75080-18998 पर वट्टसऐप या फ़ोन नंबर-0172-2969340 पर कॉल या farmercomm@punjabmail.gov.in पर ईमेल या पंजाब स्टेट फार्मरज़ एंड फार्म वर्करज़ कमीशन, कालकट भवन, एयर पोर्ट चौक, नज़दीक ऐरोसिटी ब्लाक सी, एयरपोर्ट रोड, एस. ए. एस. नगर (मोहाली) पर चिट्ठी पत्र भेजा जा सकता है। उक्त में से किसी भी संपर्क नंबर, ईमेल या पते पर अपनी सुविधा अनुसार सुझाव भेजे जा सकते हैं।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close