‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ टीवी शो में हर्ष ने छोड़ा घर, अभि बचाएगा अपने पिता की जान

मुंबई । ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ टीवी शो में अक्षर और अभि की शादी को लेकर बहुत कुछ होना बाकी है। अक्षरा के गुस्से के बाद जहां मनीष ने अपनी शर्त वापिस ले ली तो वहीं अब अभि का पिता हर्ष अपनी जिद पर अड़ गया। अभि ने भी गुस्से में अपने पिता से उसकी शादी में न आने की कडवी बात कह दी।

जो हर्ष को चुभ जाएगी और वह शराब पीकर अपना गम दूर करने की कोशिश करेगा। नशे की हालत में उसकी जान पर बन आएगी। यह देखकर अभि उसे बचा लेगा। इधर अक्षरा की बैचेनी को देखकर मनीष उसे समझाएगा।

कहानी में गोयनका और बिरला हाउस में चल रही कभी खुशी कभी गम वाली िस्थति को लेकर खूब टि्वस्ट आने वाले हैं। जिसे देखकर दर्शकों का रोमांच बढ़ जाएगा।

अभि की बात सुन हर्ष हो जाएगा शॉक्ड

अभि और अक्षरा की शादी की बात सुनकर नाराज हर्ष घर के सामान की तोड़फोड़ कर देता है। वह घर में आग लगाने की भी कोशिश करेगा। जिसे देखकर अनीशा घबरा जाएगी। हर्ष कहेगा कि मेरे और मेरे घर में आग देखो। जिस दिन अक्षु यहां बहू बनकर आएगी, वह परिवार में झगड़े पैदा करेगी।

फिर उस विनाश को कोई नहीं रोक सकता। न मैं और न तुम। तभी अभि आता है और कहता है कि तुम आग जलाओ और मैं इसे बुझा दूंगा। वह अपने पिता हर्ष से कहेगा कि तुम मेरी शादी में आमंत्रित नहीं हो। यह सुनकर हर्ष शॉक्ड हो जाएगा और मंजरी रोने लगेगी।

शराब के नशे में घर छोड़ देगा अभि का पिता

अभि की बात सुनकर हर्ष दुखी हो जाता है और घर छोड़कर बाहर निकल जाता है। शराब के नशे में हर्ष रास्ते में मिलने वाले लोगों से पूछता है कि क्या कोई बेटा अपने पिता को शादी में आने से रोक सकता है। मैं अभि से बहुत प्यार करता हूं लेकिन अक्षरा से नफरत। मैं नहीं चाहता कि वह बहू बनकर उसके घर में आएं।

अभि बचाता है हर्ष की जान

अभि, हर्ष को ढ़ूंढ़ने के लिए बाहर निकलता है। जहां वह एक आदमी से हर्ष के बारे में पूछेगा। तभी उसे हर्ष दिखेगा जो एक बिजली के खंबे के पास नजर आएगा जिस पर से चिंगारी निकल रही होंगी। हर्ष पोल पकड़ने वाला है।

अभि चिल्लाता है और दौड़कर हर्ष की जान बचा लेगा। हर्ष पूछता है कि तुम कहाँ से आ गए। मैं तुमसे मिलना चाहता था और तुमसे कुछ पूछना चाहता था।

वह पूछता है कि तुम मुझसे इतनी नफरत क्यों करते हो, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं। लेकिन मैं उस अक्षु से नफरत करता हूं। अभि कहता है घर चलो, सब इंतजार कर रहे हैं। वह हर्ष को घर लेकर आएगा।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close