अगर देश को निशाना बनाया गया तो भारत सीमा पार करने में भी नहीं सोचेगा, आतंकवादियों को रक्षामंत्री ने दी सख्त समझाइश

Asam News : गुवाहाटी । आतंकवादी गतिविधियों को गंभीरता से लेते हुए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सख्त लहजे में देश को निशना बनाने वालों को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ने के संकेत दिए है। रक्षामंत्री ने एक कार्यक्रम के दौरान इस संबंध में कहा है कि भारत को सीमा पार से निशाना बनाने वाले आतंकवादियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करने से देश कतई नहीं हिचकिचाएगा।

1971 के बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में शामिल रहे असम के सैनिकों को सम्मानित करने के कार्यक्रम में शामिल होने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहाकि सरकार देश से आतंकवाद को उखाड़ फेंकने के लिए लगातार काम कर रही है।

रक्षामंत्री ने कहाकि भारत सभी को यह संदेश देने में सफल रहा है कि आतंकवाद से अब सख्ती से निपटा जाएगा। अगर हमारे देश को बाहर से निशाना बनाने का प्रयास किया गया तो हम सीमा पार करने से नहीं हिचकिचाएंगे।

रक्षामंत्री सिंह ने कहाकि पश्चिमी सीमा की तुलना में देश की पूर्वी सीमा पर वर्तमान में अधिक शांति और स्थिरता है क्योंकि बांग्लादेश भारत का एक मित्र पड़ोसी देश है।

पश्चिमी सीमा की तरह भारत पूर्वी सीमा पर कोई तनाव महसूस नहीं कर रहा। वहां बांग्लादेश एक मित्र देश है। घुसपैठ की समस्या लगभग समाप्त हो गई है। पूर्वी सीमा पर अब शांति और स्थिरता है।

विभिन्न हिस्सों से सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम को वापस लिए जाने के मामले में रक्षामंत्री ने स्पष्ट किया कि जब भी किसी स्थान की स्थिति में सुधार हुआ, सरकार ने ऐसा किया है। यह एक गलतफहमी थी कि सेना हमेशा ‘आफ़स्पा’ को लागू रखना चाहती है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close