Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi : अहलावत ने मानुषी को अपनी भावनाओं का इजहार किया
Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi

Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi

मीत 28 दिसंबर 2021 एपिसोड : मैनेजर ने मानुषी को टूटा हुआ चश्मा लेने को कहा। मानुषी टूटे हुए टुकड़ों को लेने के लिए नीचे उतरी।मीत अहलावत ने मैनेजर से कहा कि यह मेरा कार्ड है, इसे मेरे खाते से नुकसान के लिए डेबिट कर दिया गया है। प्रबंधक कहते हैं, लेकिन आपको इसे भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है।

मीत अहलावत से, गलतियां इंसानों से होती हैं, उन्हें इतना डांटने की जरूरत नहीं है। मीत खुद से कहता है कि मुझे पता है कि आप अंदर से कितना बुरा महसूस कर रहे होंगे लेकिन फिर भी

आप उसकी मदद कर रहे हैं, उसे राज से यह व्यवहार मिला है, वह भी किसी की मदद करने से खुद को नहीं रोकता है, वह उसका बच्चा है, भगवान का शुक्र है कि इससे मनु डी को मदद मिलेगी। मैनेजर मानुषी से कहता है

कि क्या आपने यहां अच्छे लोगों को आते देखा है जो लोगों की मदद करते हैं लेकिन आप समझ नहीं सकते कि अब जाओ और अपना काम करो और अपनी आँखें खुली रखो।

जाने के बारे में अहलावत से मिलें। मानुषी कहती है कि उसे धन्यवाद। वह चला जाता है और मानुषी कहती है कि कभी-कभी आपके हाथ पर घाव आपके दिल को छू सकता है।

मानुषी मीत अहलावत के इंतजार में कमरे में कहती है कि धैर्य रखो वह निश्चित रूप से आएगा। मीत अंदर चला जाता है। मानुषी कहती है कि तुम यहाँ क्या कर रहे हो कोई देखेगा समस्या पैदा करेगा यहाँ से जाओ। मीत कहते हैं मैं तुम्हारा घाव देखने आता हूं।

Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi

मानुषी कहती है मुझे मेरी हालत पर छोड़ दो। मीत कहते हैं मैं कैसे कर सकता हूं, मैं तुम्हारी बहन हूं अगर तुम मुसीबत में हो तो मुझे भी ऐसा ही लगता है मैं तुम्हें पसंद नहीं देख सकता।

मानुषी कहती है अगर नहीं तो अपनी आँखें बंद करो, अगर मैं तुम्हारे जीवन में हस्तक्षेप नहीं कर रहा हूँ तो तुम क्यों हो,

जाओ और अपनी मीत अहलावत से कहो मैं उसे वापस भुगतान करूँगा जब मुझे वेतन मिलेगा मेरे जीवन में हस्तक्षेप न करें मैं भीख माँगता हूँ आप कृपया मुझे मेरे हाल पर छोड़ दें। मीत छुट्टी। मानुषी का कहना है कि मैं उसे घाव दिखाता हूं लेकिन मीत अहलावत वापस क्यों नहीं आ रहा है।

खिड़की के पास बैठे अहलावत से मिलें। मीत उसके पास चलता है। मीत अहलावत से कहते हैं कि क्या हम कल खरीदारी करने जा सकते हैं मुझे सिरदर्द हो रहा है।

मीत कहते हैं कि कोई चिंता नहीं है, कल हम आपके लिए दवा लाएंगे और सोचेंगे कि अगर मैं रिसेप्शन पर हूं और वे मानुषी को भेजेंगे तो वह और बुरा करेगा,

Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi

वह उससे कहती है कि मैं जाकर तुम्हारे लिए दवा लाऊंगी। अहलावत से मिलें मानुषी की झिलमिलाहट देखें और उसकी कान पकड़ें और याद करें कि मीट ने उससे क्या कहा था कि वह उसमें विश्वास न तोड़ दे और आईने में जाकर उसका उद्धरण लिखें लेकिन बीच में रुक जाएं और असहज हो जाएं।

राज जयप्रताप से कहते हैं लेकिन… जयप्रताप कहते हैं रुको मैं अब और नहीं कहूंगा अगर मैंने कुछ गलत कहा तो मुझे बताओ, मैं नहीं कहूंगा कि कुछ भी मेरा बैग पैक करेगा और चला जाएगा। राज कहता है कि तुम क्या बात कर रहे हो।

Meet 27 December 2021 Written Update in Hindi

जयप्रताप कहते हैं कि मुझे जो लगता है उसे कहने दो, मुझे पता है कि तुम अच्छे लोग हो, अपनी बहू को अपनी बेटी मानते हो इसलिए मैं काफी था लेकिन कई सालों बाद मैं चाहता हूं कि मेरी बेटी फिर से शादी करे तो इसमें क्या गलत है, यह साल हो गया है तेज आया या उसकी खबर।

बाजार में सड़क पर बैठकर किताब पढ़ते तेज। एक जोड़ा आता है और तेज को देखता है और कहता है कि यह पहली बार है जब मैंने देखा कि कोई भिखारी अंग्रेजी किताब पढ़ रहा है, अच्छे परिवार से होना चाहिए।

Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi

राज कहते हैं मैं कहना चाहता हूँ। जयप्रताप कहते हैं कि मेरी बात सुनो अगर तेज की जगह सुनैना गायब थी तो योई भी तेज को उसकी यादों में मरने के लिए छोड़ देगी, अगर मैंने कुछ गलत कहा है तो मुझे बताओ कि मैं अपनी बेटी से मिले बिना यह घर छोड़ दूंगा।

राज कहता है कि तुम सही हो मैं तुमसे वादा करता हूं कि मैं सुनैना की खुशी के लिए भी तुम्हारा साथ दूंगा, मुझे यह समझने में समय लगा कि मुझे खेद है। जयप्रताप कहते हैं कि हाथ मिलाने की कोई जरूरत नहीं है जो आप समझ गए हैं मेरे लिए काफी है। बबीता उन्हें गले लगाते हुए देखती है।

मीत जाता है मंदिर कहता है कि जब से हम आए हैं तब से यह सब गड़बड़ है और भगवान से प्रार्थना करें, मीत अहलावत को कुछ भी लड़ने की शक्ति दें और मानुषी को भी आशीर्वाद दें

ताकि उसे वह सब कुछ मिल सके जो वह अपने जीवन में चाहती है। मीत अहलावत ने मानुषी के दरवाजे पर दस्तक दी। मीत अहलावत अपने अतीत की वजह से मुसीबत में है, वह रोज लड़ रहा है।

Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi

मानुषी का कहना है कि आखिरकार मीत अहलावत अपने बेहतर आधे हिस्से में वापस आ गए हैं। मीत का कहना है कि मानुषी अपने जीवन को एक साथ इकट्ठा करने की कोशिश कर रही है,

वह मीत अहलावत से बिल्कुल भी प्यार नहीं करती थी, लेकिन फिर भी वह मुश्किल में है क्योंकि उसकी पत्नी ने उसे धोखा दिया था। मानुषी कहती है कि तुम अहलावत से मीत,

उसके पास जाती है कहती है कि किसी के देखने से पहले अंदर आओ। मानुषी भगवान से कहती है कि कृपया अहलावत से मिलने की ताकत दें ताकि वह मानुषी का सामना कर सके।

मीत अहलावत से मानुषी से कहती हैं मुझे कुछ जरूरी बात करनी है। मानुषी कहती है हां प्लीज मैं इंतजार कर रही थी।

मीत अहलावत से कहते हैं कि एक समय था जब मैं तुमसे बहुत प्यार करता था लेकिन तुमने मुझे अकेला छोड़ दिया मैं खो गया था और दर्द में हर बार मैं भगवान से कहता था

कि तुम्हें अपने सामने लाओ ताकि मैं तुमसे पूछ सकूं कि तुमने मेरे साथ ऐसा क्यों किया पर अब तुम मेरे सामने खड़े हो तो मुझे कुछ महसूस नहीं हो रहा है, हाँ तुम सही कह रहे हो मुझे तुम्हारे वजूद की परवाह नहीं है,

मेरे सामने खड़े होने में मेरा अतीत, मुझे कुछ भी महसूस नहीं हो रहा है क्योंकि मैं तुमसे कह रहा हूँ आपके अंदर गलतफहमियां नहीं हैं,

जो नुकसान मैंने चुकाया वह एक लड़की के लिए था जिसकी नौकरी लाइन में थी और अगर यह कोई और होता तो मैं भी ऐसा ही करता, अगर आप मेरी मदद को आशा के रूप में सोचते हैं तो यह आपके लिए खराब प्रभाव होगा। अहलावत से मिलें, याद रखें।

Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi

मानुषी ने अपना हाथ पकड़ लिया मुझे पता है कि तुम मुझ पर गुस्सा हो और तुम्हें होना चाहिए, मुझे पता है कि मैंने गलती की है और मुझे पता है

कि इसके लिए खेद की आवश्यकता नहीं है, हर कोई मुझसे नफरत करता है और आप भी, ठीक है क्योंकि मैं इसके लायक हूं।

मीत अहलावत से हाथ छूटी छुट्टी। मानुषी का कहना है कि यह नाटक एक ट्रेलर था बस रुको क्योंकि वह समय दूर नहीं है, तुम मेरे पास आओगे क्योंकि तुम मुझे इस हालत में नहीं देख सकते।

मंदिर में मिलते हैं कहते हैं मैं अहलावत से मिलने के लिए भी कुछ प्रसाद लूंगा। तेज आकर उसका प्रसाद छीन कर खाने लगा।

मीत उससे कहता है कि तुम्हें मीठा पसंद है और उसके साथ बैठो और कहता है कि तुम्हें सबसे ज्यादा क्या पसंद है, रगुल्ला, रसमलाई, रबड़ी, बर्फी, जलेबी।

\Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi

तेज ने उसकी ओर देखा और कहा कि समझ गया कि आप अगली बार जलबी की तरह हैं और मैं इसे आपके लिए लाऊंगा और पूछूंगा कि क्या आपका हाथ दर्द कर रहा है।

मिलने के लिए कॉल आती है लेकिन उसका फोन छोड़ देते हैं। तेज उठाता है और कॉल का जवाब देता है।अहलावत से नमस्ते कहते हैं। मीत कहते हैं बाबाजी यह फोन है खिलौना नहीं और मुझे फोन दो,

कहते हैं जलेबी चाहिए तो मुझे फोन दो। तेज के चेहरे पर धूप खिली और वह चिल्लाने लगा और घबराकर भागने लगा। मीत कहते हैं कि उसके साथ क्या हुआ और अहलावत से मिलने का जवाब दें। मीत अहलावत से कहते हैं जल्दी आओ मैं तुम्हारा इंतजार कर रहा हूं।

Meet 28 December 2021 Written Update in Hindi

मीत कहती है कि हां आ रही है और कॉल काट देती है, उसे सुनैना का फोन आता है। सुनैना रोते हुए कहती है कि मुझे पता है कि यह बात करने का अच्छा समय नहीं है लेकिन मुझे अच्छा नहीं लग रहा है। बबीता उसके पास खड़ी होकर उसे इशारा करती है न बताओ।

सुनैना कहती हैं कि ऐसा कुछ नहीं था जैसे हम आपको याद कर रहे थे सब कुछ इतना खाली महसूस कर रहा था। मीत कहते हैं अच्छा है

कि आप कॉल करें हम भी आपको बहुत याद कर रहे थे और कहते हैं कि यहां कई खूबसूरत चूड़ियां हैं मुझे अपनी सूची भेजें मैं आपके लिए सब कुछ हड़प लूंगा। सुनैना का कहना है कि मैं इसे साझा करूंगा और बताऊंगा कि वहां सब कुछ कैसा चल रहा है।

मीत कहते हैं सब ठीक है। सुनैना का कहना है कि मुझे उम्मीद है कि यह यात्रा आपको दो और करीब लाती है और डिस्कनेक्ट करती है। मीत कहते हैं मैं अहलावत को अब भी मनु दीदी की तरह मीत कैसे बताऊं।

Image Source & credit : Zee

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close