क्षय रोगियों की पहचान के लिए आधुनिक सुविधाएं दतिया में भी उपलब्ध- डॉ.उदैनिया : चिकित्सा महाविद्यालय में एक दिवसीय कार्यशाला संपन्न

Datia News : दतिया। राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के तहत शनिवार को एक दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन शिशु रोग विभाग, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय दतिया द्वारा अधिष्ठाता डॉ.दिनेश कुमार उदैनिया के निर्देशन में मेडीकल कॉलेज दतिया में किया गया।

इस कार्यशाला में ग्वालियर से डॉ.सीपी बंसल, प्रो. डॉ.अजय गौर, डॉ.रश्मि गुप्ता, डॉ.अजय कुमार जैन मेरठ एवं एम्स भोपाल से डॉ.अंबर कुमार फैकल्टी के रूप में मौजूद रहे। कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए अधिष्ठता डॉ.उदैनिया ने बताया कि दतिया में टीबी की जांच की सभी सुविधाएं और दवाएं निशुल्क नियमित रूप से उपलब्ध कराई जा रही हैं।

राष्ट्रीय बाल अकादमी के पूर्व अध्यक्ष डॉ. सीपी बंसल ने टीवी मरीजों की पहचान के लिए अपनाए जा रहे नए तरीकों की जानकारी दी। मेरठ से आए डॉ.अजय जैन ने रोचक तरीके से टीबी मरीजों के क्लिनिकल संकेतों की पहचान के तरीके बताए। डॉ. अजय गौर ने फेफड़ों के अतिरिक्त दूसरे अंगों की टीबी की जानकारी सभी डॉक्टर्स को दी। अन्य वक्ताओं द्वारा भी टीबी के नवीन उपचारों को लेकर सार्थक चर्चा की गई।

कार्यशाला में स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त संचालक डॉ. पीके शर्मा और झांसी मेडिकल कॉलेज के शिशु रोग विभागाध्यक्ष डॉ.ओम चौरसिया भी सम्मिलित हुए। इस कार्यशाला में दतिया के अतिरिक्त शिवपुरी, श्योपुर, मुरैना के चिकित्सकों ने भी भाग लिया।

दतिया के शिशु रोग विभागाध्यक्ष डॉ.राजेश गुप्ता ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत यह कार्यशाला आयोजित की गई ताकि टीबी को समूल उन्मूलन करने में क्षेत्र के चिकित्सक सार्थक प्रयास कर सकें।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ.विशाल वर्मा ने दतिया में टीबी के मरीजों की वर्तमान स्थिति से अवगत कराते हुए कहा कि दतिया में समस्त नवीनतम जांचें और इलाज सुलभ कराया जा रहा है। इस कार्यशाला को आयोजित करने में ग्वालियर शिशु रोग अकादमी का सार्थक सहयोग रहा।

कार्यशाला में सभी विभागों के विभागाध्यक्ष और चिकित्सक मौजूद रहे। बाल एवं शिशु रोग विभाग से डॉ.मनीष अजमेरिया, डॉ.पुनीत अग्रवाल, डॉ.प्रदीप उपाध्याय एवं डॉ.डीके गुप्ता भी उपस्थित रहे।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close