पंजाब में ‘आम आदमी क्लीनिकों’ को भरपूर समर्थन : रोजाना आ रहे 7 हजार से ज्यादा मरीज ,अबतक आने वाले मरीजों की संख्या 1.82 लाख से पार !

चंडीगढ़ :  मुख्यमंत्री स. भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार के प्रमुख प्रोग्राम, आम आदमी क्लीनिकों को राज्य भर में भरपूर समर्थन मिला है, जिससे अब तक इन क्लीनिकों पर आने वाले मरीजों की संख्या 1.82 लाख को पार कर गई है, जबकि अधिक से अधिक मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए एस. ए. एस. नगर ने अन्य जिलों में से पहला स्थान प्राप्त किया है। 

ताज़े प्राप्त आंकड़ों से अनुसार, एस. ए. एस. नगर में अब तक कुल 25990 मरीज़ अपना इलाज करवा चुके हैं और 2811 लैब टैस्ट किये जा चुके हैं, जबकि जि़ला लुधियाना ने 21384 मरीजों और 2343 क्लिनीकल टैस्टों के साथ 23 जिलों में से दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

इसी तरह जि़ला बठिंडा ने 16889 मरीजों और 2243 क्लिनीकल टैस्टों के साथ तीसरा स्थान हासिल किया है। इसके इलावा, राज्य भर में कुल 23402 क्लिनीकल टैस्टों के साथ 15 अगस्त से 17 सितम्बर, 2022 तक मरीजों की संख्या 1,82,325 तक जा पहुंची है। 

इस भरपूर समर्थन के लिए डाक्टरों और अधिकारियों की पीठ थपथपाते हुये पंजाब के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री स. चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने बताया कि ऐसे 75 क्लीनिक स्वतंत्रता दिवस वाले दिन से शुरू हो चुके हैं, जबकि 25 ऐसे और क्लीनिकों को बाद में शुरू कर दिया गया है, जहाँ प्रति दिन सात हज़ार से अधिक मरीजों को स्वास्थ्य सहूलतें प्रदान की जाती हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ‘‘ मुफ़्त मानक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए ऐसे क्लीनिकों का नैटवर्क स्थापित करने के लिए लोगों के साथ हमारी वचनबद्धता अनुसार, हम अब तक 100 क्लीनिक ( 65 शहरी क्षेत्रों में और 35 ग्रामीण क्षेत्रों में) लोगों को समर्पित कर चुके हैं।’’ 

कैबिनेट मंत्री ने कहा कि जल्दी ही ऐसे क्लीनिक राज्य के कोने-कोने में स्थापित किये जाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि यह अहम पहलकदमी राज्य की समूची स्वास्थ्य संभाल प्रणाली को फिर सुरजीत कर रही है। स. चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने बताया कि मरीज़ क्लीनिकों में जाकर डाक्टरी सेवाओं का लाभ ले सकते हैं या आनलाइन अपायंटमैंट की सुविधा ले सकते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि लोगों को उनके घरों के नज़दीके स्थानों पर मानक स्वास्थ्य सेवाएं मुफ़्त मिल रही हैं। उन्होंने कहा कि अब तक सत्ता संभाल चुकी सभी सरकारों ने लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने की ओर कोई ध्यान नहीं दिया, जिस कारण आम लोगों को भारी ख़ामियाज़ा बर्दाश्त करना पड़ा है। 

इस दौरान स. जौड़ामाजरा ने कहा कि आम आदमी सरकार का यह विनम्र सा प्रयास स्वास्थ्य संभाल क्षेत्र में क्रांति ला रहा है। उन्होंने बताया कि इन क्लीनिकों के द्वारा लोगों को 75 दवाएँ और 41 डायगनौस्टिक टैस्ट मुफ़्त किये जा चुके हैं। उन्होंने आशा अभिव्यक्त की कि इन क्लीनिकों से 90 प्रतिशत मरीजों को इलाज की सहूलतें मिल रही हैं, जिससे अस्पतालों पर बोझ घटेगा। स. जौड़ामाजरा ने आगे कहा कि बड़ी बीमारियों वाले गंभीर मरीजों को ही आगे बड़े अस्पतालों में रैफर किया जायेगा। 

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close