मध्यप्रदेश में 7.50 लाख विद्यार्थियों को दी गई पिछड़ा वर्ग पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति : एक हजार करोड़ रूपये स्कालरशिप की जायेगी वितरित


भोपाल : प्रदेश में पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति योजना में इस वर्ष कक्षा 11, 12 और महाविद्यालयीन में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को करीब एक हजार करोड़ रूपये की छात्रवृत्ति वितरित की जा रही है। पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति का लाभ 7 लाख 50 हजार विद्यार्थियों को दिया जा रहा है। शिक्षण संस्थाओं को पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति का लाभ लेने वाले विद्यार्थियों की 75 प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिये भी कहा गया है।

पिछड़ा वर्ग राज्य छात्रवृत्ति : विभाग की एक अन्य योजना पिछड़ा वर्ग राज्य छात्रवृत्ति में इस वर्ष करीब 222 करोड़ रूपये खर्च किये जा रहे हैं। राज्य छात्रवृत्ति में पिछड़ा वर्ग के स्कूलों में पढ़ने वाले कक्षा 6 से कक्षा 10वीं तक के विद्यार्थियों को प्रतिमाह छात्रवृत्ति का लाभ दिया जा रहा है। छात्रवृत्ति स्वीकृति एवं वितरण की कार्यवाही स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा की जा रही है।

पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की जयंती पर लगेंगे आरोग्य मेले : जिला अधिकारियों को दिये गये दिशा-निर्देश

पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती 25 दिसम्बर को प्रदेश के प्रत्येक जिले में आरोग्य मेले आयोजित किये जायेंगे। सुशासन दिवस पर लगने वाले आरोग्य मेले के संबंध में आयुष विभाग ने जिला अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किये हैं।

आरोग्य मेले से जन-सामान्य को आयुष विभाग के स्वास्थ्य कार्यक्रम और स्वस्थ जीवन शैली के प्रति जागरूक किया जायेगा। इसके साथ ही विभिन्न प्रकार के संचारी-असंचारी बीमारियों की रोकथाम की जानकारी दी जाएगी। विभाग बीमारी की प्रारंभिक स्तर पर स्क्रीनिंग, दवाइयों की उपलब्धता के साथ टेली-कंसल्टेशन एप ‘आयुष क्योर’ का प्रचार-प्रसार भी करेगा। विभागीय अधिकारियों को आरोग्य मेले में स्थानीय जन-प्रतिनिधियों को आमंत्रित किये जाने के भी निर्देश दिये गये हैं। आरोग्य मेले में राज्य शासन के अन्य विभाग, जिनमें महिला बाल विकास, पंचायती राज, शिक्षा विभाग, सामाजिक कार्यकर्ता और गैर शासकीय संगठन भी मदद करेंगे।

मेले में आयुर्वेद, होम्योपैथी एवं यूनानी चिकित्सा का नि:शुल्क परामर्श मरीजों को दिया जाएगा। मेला स्थल पर योग से होने वाले लाभ की जानकारी दी जायेगी। मेले में नि:शुल्क औषधियों का वितरण भी किया जाएगा। मेला स्थल पर औषधीय पौधों की प्रदर्शनी एवं विभाग की देवारण्य योजना के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।

width="500"

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter