पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी के खिलाफ विपक्ष ने उठाई आवाज; लोकसभा से किया वाकआउट

नई दिल्ली : लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस के एक सदस्य ने महंगाई का विषय शून्यकाल में उठाया और सरकार से पेट्रोल-डीजल तथा रसोई गैस के हाल में बढ़े हुए दामों को वापस लेने की मांग की। सदन में महंगाई के मुद्दे पर विपक्षी दलों के सदस्यों की नारेबाजी के बीच तृणमूल कांग्रेस के असित कुमार मल्ल ने कहा कि देश में पेट्रोल और डीजल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा और रसोई गैस सिलेंडर के दाम 1000 रुपये से ऊपर पहुंच गये हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस मूल्य वृद्धि को वापस लेने की घोषणा करके जनता को राहत देनी चाहिए। शून्यकाल में भारतीय जनता पार्टी की संघमित्रा मौर्य ने कहा कि यदि सम्राट अशोक की जयंती के अवसर पर सार्वजनिक अवकाश नहीं घोषित किया जा सकता तो उनके जन्म दिन को ‘सम्राट अशोक जयंती’ के रूप में अधिसूचित किया जाए ताकि लोग अपनी सुविधा के अनुसार एक निश्चित दिन इस संबंध में कार्यक्रम आयोजित कर सकें।

भाजपा के पल्लव लोचन दास ने असम में नवोदय विद्यालयों की आवश्यकता का विषय उठाया। नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि कश्मीर में सोमवार को सात हाउसबोट जल गयी हैं और पर्यटन मंत्रालय को इस ओर ध्यान देते हुए पीड़ितों को नयी हाउसबोट दिलवाने में मदद करनी चाहिए।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close