दवा कारोबारी की हत्या मामले की गुत्थी सुलझाने में दिनभर जुटी रही पुलिस : आईजी भी पहुंचे इंदरगढ़, ठोस सुराग मिलने का दावा

Datia news : दतिया । दवा कारोबारी घनश्यामदास अग्रवाल की हत्या के मामले में पुलिस के हाथ अहम सुराग लगे हैं। सोमवार को इंदरगढ़ पहुंचे आईजी सुशांत सक्सेना ने भी एसआईटी टीम को ठोस सुराग मिलने की बात कही है। वहीं पुलिस का दावा है कि जल्दी ही मामले का खुलासा कर लिया जाएगा।

इधर पूछतांछ के लिए पुलिस ने इंदरगढ़ और दतिया से भी कुछ लोगों को राउंडअप किया था। जिससे उम्मीद है कि पुलिस के हाथ घटना से जुड़े तथ्य लगे हैं। वहीं सनसनीखेज घटना के बाद सोमवार को सुबह से ही एसपी वीरेंद्र मिश्रा सहित कई अन्य पुलिस अधिकारी वहां दिन भर डेरा डाले रहे।

गत रविवार की शाम दवा कारोबारी की हत्या के बाद सोमवार को इंदरगढ़ बाजार में सन्नाटा पसरा रहा। दुकानदार भी सहमे हुए नजर आए। घटनास्थल सहित अन्य आसपास के क्षेत्रों में पुलिस का मूवमेंट भी लगातार हाेता रहा। वहीं इस घटना को लेकर जिला कैमिस्ट एसोसिएशन ने विरोध में जिले भर के मेडीकल स्टोर बंद रखने का आव्हान किया था। जिसका असर नजर आया।

जिले में सोमवार को कहीं भी दोपहर एक बजे से पांच बजे तक मेडीकल स्टोर खुले नजर नहीं आए। बता दें कि मृतक दवा कारोबारी घनश्यामदास अग्रवाल, जिला कैमिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष भी थे। जिसके चलते एसोसिएशन की ओर से यह कदम उठाया गया।

सुबह करीब दस बजे एसपी वीरेंद्र मिश्रा इंदरगढ़ पहुंचे। इस दौरान वहां एएसपी सुनील शिवहरे, एसडीओपी सेवढ़ा अखिलेशपुरी गाेस्वामी, भांडेर एसडीओपी कर्णिक श्रीवास्तव, इंदरगढ़ टीआई उपेंद्र दुबे सहित गठित की गई एसआईटी टीम के सदस्य मौजूद रहे। वहीं शाम पांच बजे करीब चंबल जोन आईजी सुशांत सक्सेना भी इंदरगढ़ पहुंचे। जहां उन्होंने घटनास्थल पर पहुंचकर मौका मुआयना किया।

एसपी मिश्रा ने आईजी सक्सेना को घटना से संबंधित पहलुओं के बारे में जानकारी भी दी। इस दौरान आईजी सक्सेना ने दावा किया कि घटना को लेकर एसआईटी के हाथ ठोस सुराग लग गए हैं। जल्दी ही हमलावरों को गिरफ्तार कर पुलिस मामले का खुलासा करेगी। आईजी ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी पर घोषित की गई इनाम राशि 10-10 हजार से बढ़ाकर अब 30-30 हजार रुपये कर दी गई है।

दवा कारोबारी की हत्या के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में इंदरगढ़ में शाम सात बजे कैंडल मार्च निकाला गया। जिलाध्यक्ष रामकिंकर गुर्जर के नेतृत्व में निकाले गए कैंडल मार्च में काफी संख्या में स्थानीय जन व कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter