इंदौर को प्रदेश का टूरिज्म हब बनाया जायेगा : 1 लाख 13 हजार पदों की भर्तियाँ शीघ्र , मुख्यमंत्री ने दी अनेक सौगातें

 इंदौर : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इंदौर को प्रदेश का टूरिज्म हब बनाया जाएगा। इंदौर के एक तरफ उज्जैन में महाकाल लोक बन चुका है, दूसरी और ओंकारेश्वर में अद्वैत संस्थान का निर्माण किया जाएगा। इंदौर क्षेत्र से लगा मांडू और महेश्वर भी है। इन सब को मिला कर इंदौर में एक अच्छा टूरिज्म हब विकसित किया जा सकता है। साथ ही इंदौर में सड़कों के बोझ को कम करने के लिए आकाश मार्ग का भी इस्तेमाल किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने मंगलवार को इंदौर विकास प्राधिकरण द्वारा 47 करोड़ 27 लाख रूपये की लागत वाले क्रांतिसूर्य जननायक टंटया मामा भील चौराहा (भंवरकुआ) के फ्लाय ओव्हर और 41 करोड़ 18 लाख रूपये की लागत के खजराना स्थित चौराहे पर बनने वाले फ्लाय ओव्हर का भूमि-पूजन किया। संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर, सांसद  शंकर लालवानी, महापौर  पुष्यमित्र भार्गव, विधायक  मालिनी गौड़, सहित जन-प्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रदेश में 1 लाख 13 हजार शासकीय पदों की भर्ती प्रक्रिया प्रारम्भ हो गई है। इसमें पीएससी के पद भी शामिल है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की धरती पर अब मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई भी हिंदी में होगी। अंग्रेजी के बोझ को भविष्य में बाधा नहीं बनने दिया जाएगा। इसके लिये हिन्दी में पाठ्यक्रम भी प्रारंभ कर दिये गये हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राऊ में जल संसाधन के तालाब को नगर परिषद राऊ को दिया जाएगा। गांधीनगर और फूटी कोठी में फ्लाय ओव्हर और इंदौर में एमआर-3 भी बनाया जायेगा।

इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष  जयपाल सिंह चावड़ा ने कहा कि इंदौर का आज विश्व में नाम है तो इसके पीछे मुख़्यमंत्री की कल्पना और उनकी दूरदृष्टि से ही सम्भव हो पाया है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close