अपने झगड़े समाधान बीट ने निपटाएं जिससे गांव बने विवादहीन, संभागायुक्त सक्सेना ने ग्रामीणों को दी समझाइश, बोले लापरवाह अधिकारियों को करेंगे सस्पेंड

Datia News : दतिया। गांव स्तर पर ही लोगों को आपसी समन्वय कर आपसी समझौते कर समाधान बीट केंद्र के माध्यम से समस्याओं का समाधान कर लेना चाहिए। ताकि लोगों के बीच अच्छे रिश्ते बने। इससे गांव में आपसी विवाद एवं लड़ाई झगड़े की स्थिति निर्मित नहीं होगी और गांव में आपसी प्रेम एवं भाईचारा का वातावरण बना रहेगा।

यह बात संभागायुक्त आशीष सक्सैना ने सोमवार को दतिया जनपद पंचायत के ग्राम भिटौरा में बीट समाधान केंद्र पर आयोजित शिविर को संबोधित करते हुए कही।

इस मौके पर कलेक्टर संजय कुमार, अपर आयुक्त मूलचंद्र वर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य, एसडीएम दतिया ऋषि कुमार सिंघई, डीएसपी सहित विभिन्न विभागों के संभाग, जिला स्तरीय अधिकारी एवं बीट केंद्र पर बैठने वाले अधिकारी, कर्मचारी तथा ग्रामीणजन उपस्थित रहे।

संभागायुक्त सक्सैना ने कन्यापूजन कर कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहाकि समाधान बीट केंद्र के माध्यम से गांव में होने वाले विवादों को दोनों पक्षों को आपस में बैठकर अपने-अपने अहम को त्यागकर सहमति के माध्यम से निराकरण कर गांव में आपसी समरसता सद्भाव एवं भाईचारे का वातावरण निर्मित कर रिश्तों को कायम रखें।

संभागायुक्त सक्सैना ने कहाकि उन्हें बताया गया है कि ग्राम भिटौरा में शासकीय भूमि पर मुक्तिधाम के लिए जाने वाले रास्ते पर एक अतिक्रामक द्वारा वर्षो से अतिक्रमण कर रखा था। जिससे ग्रामीणों को वहां पहुंचने में परेशानी होती थी।

लेकिन समाधान बीट केंद्र के माध्यम से अधिकारियों एवं कर्मचारियों की समझाईश उपरांत अतिक्रमणकर्ता द्वारा उक्त रास्ते से अपना अतिक्रमण हटाकर सार्वजनिक उपयोग के लिए जगह दे दी गई है। जिस पर ग्राम पंचायत द्वारा सीसी सड़क बनाई जाएगी। अब ग्रामीणों को मुक्तिधाम तक पहंुचने में परेशानी नहीं आएगी।

उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि सभी ग्रामीण आज इस बात का संकल्प लें कि हम अपने गांव को विवादहीन गांव बनाकर जिले को एक आदर्श गांव का उदाहरण बनेंगे।

स्थानीय समस्याओं का निराकरण बीट केंद्र के माध्यम से ही किया जा सके। जिससे ग्रामीणों को कोर्ट कचहरी एवं पुलिस के पास अपने प्रकरणों के निराकरण के लिए न जाना पड़े।

घर-घर जाकर पात्रों को दिलाएं लाभ : संभागायुक्त सक्सैना ने कहा कि शासन ने व्यक्ति के जन्म से लेकर अंतिम संस्कार तक की 544 योजनाएं बनाई गई है। इन योजनाओं के माध्यम से समाज के सभी वर्गो के पात्र लोगों को लाभांवित किया जा सकता है।

उन्होंने इस संबंध में सभी जिला अधिकारियों को निर्देश दिए कि घर-घर जाकर लोगों से संपर्क कर 14 अप्रैल तक पात्र हितग्राहियांे को चिंहित कर उन्हें इन योजनाओं के तहत लाभ दिलाने की कार्रवाई करें।

भ्रमण के दौरान ग्रामीणों द्वारा अगर किसी अधिकारी एवं कर्मचारी की योजनाओं का लाभ दिलाने में उदासीनता एवं लापरवाही की शिकायत प्राप्त हो तो संबंधित कर्मचारी एवं अधिकारी के विरूद्ध निलंबन एवं सेवा समाप्ति की कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने बीट केंद्र प्रभारियों को निर्देश दिए कि शुक्रवार की रात्रि से मंगलवार तक निर्धारित मुख्यालय पर उपस्थित होकर लोगों की समस्याओं का निराकरण कराएं।

इनकी उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए अनुविभागीय दंडाधिकारी को निर्देश दिए गए। उन्होंने बताया कि जिले में 700 से अधिक ग्रामीणों को भी पीएम आवास उपलब्ध कराए गए हैं।

इस मौके पर सरपंच संजीव पुरोहित ने उपस्थितजनों को गांव को विवादहीन बनाने एवं स्वच्छता की शपथ भी दिलाई। कमिश्नर ने विभागीय स्टाल एवं स्वास्थ्य शिविर का निरीक्षण भी किया।

संभागायुक्त ने मंच पर गांव के बुजुर्ग व्यक्ति मानसिंह लल्ला, मिथला बाई और सरपंच संजीव पुरोहित का भी पुष्पगुच्छ प्रदान कर सम्मान किया।

ग्राम भिटौरा में समाधान बीट केंद्र के माध्यम से चार नामांतरण और तीन रजिस्ट्रियां की गई साथ ही बीपीएल में नाम जोड़े गए। संभागायुक्त ने जल अभिषेक अभियान का शुभारंभ कर 13 लाख से अधिक की लागत के सार्वजनिक तालाब निर्माण कार्य का शिलान्यास किया।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close