IPL 2022 : 11 साल बाद भिड़ेंगी 10 टीमें, तीन साल बाद दर्शकों की वापसी, पहला मैच सीएसके और केकेआर के बीच !

मुंबई : भारतीय क्रिकेट को मोटे दाम और नयी पहचान दिलाने वाला इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 10 टीम के साथ स्वदेश में अपना रंग बिखेरने के लिये तैयार है जिसका पहला मैच शनिवार को यहां मौजूदा चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) और पिछले साल के उप विजेता कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के बीच खेला जाएगा।

यह 2011 के बाद यह पहला अवसर होगा जबकि विश्व क्रिकेट में सबसे प्रतिष्ठित टी20 ट्रॉफी के लिए 10 टीम आपस में भिड़ेंगी। इस बार लखनऊ सुपरजायंट्स और गुजरात टाइटन्स के रूप में दो नयी टीम आईपीएल में पदार्पण करेंगी।

देश में कोविड-19 की स्थिति नियंत्रण में होने के बाद क्रिकेट प्रेमियों को 2019 के बाद पहली बार स्टेडियम में जाकर मैचों का आनंद उठाने का मौका मिलेगा। आईपीएल के सभी मैच भारत में खेले जाएंगे और स्टेडियम की क्षमता के 25 प्रतिशत दर्शक इसे स्टेडियम में जाकर देख पाएंगे।

दो नयी टीम के जुड़ने से कुल मैचों की संख्या 60 से बढ़कर 74 हो गयी है जिससे यह टूर्नामेंट दो महीने से भी अधिक समय तक चलेगा। सभी टीम हालांकि लीग चरण में 14 मैच ही खेलेंगी।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को 2021 में कड़ा सबक मिला था जब उसे महामारी फैलने के कारण बीच में टूर्नामेंट स्थगित करना पड़ा और बाद में उसे यूएई में पूरा करना पड़ा था। इसको ध्यान में रखते हुए इस समय लीग चरण के मैच मुंबई और पुणे के तीन स्थानों पर आयोजित किये जाएंगे ताकि हवाई यात्रा करने की जरूरत नहीं पड़े।

पिच क्यूरेटर के लिये दो महीने तक पिचों को जीवंत बनाये रखना चुनौती होगी लेकिन टूर्नामेंट में बड़े स्कोर बनने की पूरी संभावना है।

इस साल आस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप खेला जाना है और ऐसे में आईपीएल कुछ भारतीय खिलाड़ियों का भाग्य भी तय करेगा।

मुंबई इंडियन्स की टीम अपने घरेलू मैदान पर खेलेगी लेकिन उसके कप्तान रोहित शर्मा स्पष्ट कर चुके हैं कि उन्हें इसका कोई अतिरिक्त लाभ नहीं मिलेगा। सूर्यकुमार यादव, कीरोन पोलार्ड, जसप्रीत बुमराह और इशान किशन जैस खिलाड़ी हालांकि अनुकूल परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाना चाहेंगे।

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) में सभी निगाहें विराट कोहली पर टिकी रहेंगी जिन्होंने कप्तानी छोड़ दी है। लंबे समय तक सीएसके से जुड़े रहे फाफ डु प्लेसी को आरसीबी की कप्तानी सौंपी गयी है। देखना होगा कि उनकी अगुवाई में टीम का भाग्य पलटता है या नहीं।

दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी का आईपीएल में यह आखिरी सत्र हो सकता है। उन्होंने पहले मैच से पूर्व कप्तानी छोड़कर रविंद्र जडेजा को कमान सौंप दी है। जडेजा पर सभी की निगाह रहेगी क्योंकि उन्हें उस टीम की कमान संभालनी है जिसका 2008 से ही धोनी नेतृत्व कर रहे हैं जो चार बार की चैंपियन है।

इस बार श्रेयस अय्यर, केएल राहुल, हार्दिक पंड्या और मयंक अग्रवाल के नेतृत्वकौशल की भी परीक्षा होगी। अय्यर केकेआर की जबकि राहुल लखनऊ और हार्दिक गुजरात की कमान संभालेंगे। अग्रवाल को पंजाब का कप्तान बनाया गया है।

अय्यर इससे पहले दिल्ली कैपिटल्स जबकि राहुल पंजाब किंग्स की कप्तानी कर चुके हैं। हार्दिक के लिये यह आईपीएल में कप्तानी का पहला अनुभव होगा। उनकी प्रगति पर भारतीय टीम प्रबंधन की भी नजर होगी क्योंकि नियमित तौर पर गेंदबाजी नहीं करने के कारण उन्होंने राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह गंवा दी थी।

Written & Source BY : P.T.I

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close